संजीवनी टुडे

विश्व बैंक ने चीनी कर्ज के बारे में विकासशील देशों को दी चेतावनी

संजीवनी टुडे 12-04-2019 18:17:44


वाशिंगटन। विश्व की दो दो बड़ी संस्थाओं ने चीनी कर्ज के प्रभाव को लेकर विकासशील देशों को आगाह किया है। इतना ही नहीं अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) और विश्व बैंक ने दुनियाभर की सरकारों को कर्ज की शर्तों को लेकर ज्यादा पारदर्शिता बरतने के लिए भी कहा है। 

मात्र 240000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

समाचार एजेंसी एएफपी की रिपोर्ट के मुताबिक, इन संस्थाओं का मानना है कि कर्ज का बढ़ता बोझ मुसीबत का कारण बन सकता है। इन संस्थाओं की गुरुवार को हुई ग्रीष्मकालीन बैठक में विश्व बैंक के नव-नियुक्त अध्यक्ष डेविड अमलपास ने चेतावनी दी कि 17 अफ्रीकी देश पहले से ही कर्ज संकट से जूझ रहे हैं और ऐसे देशों की संख्या में बढ़ोतरी हो रही है, क्योंकि कर्ज लेने में पारदर्शिता नहीं बरती जा रही है।

आईएमएफ के प्रमुख क्रिस्टीन लेगार्ड ने कहा कि ऋण का उच्च स्तर और कर्जदाताओं की तादाद अंतरराष्ट्रीय मानदंडों के मुताबिक नहीं हैं और यह भविष्य में किसी देश के कर्ज लेने की कोशिशों को जटिल बना सकती है। उल्लेखनीय है कि क्रिस्टीन लेगार्ड के मुताबिक, विश्व बैंक और आईएमएफ दोनों कर्ज की प्रक्रिया में अधिक पारदर्शिता लाने के लिए एक साथ काम कर रहे हैं।

MUST WATCH & SUBSCRIBE

सेंटर फॉर ग्लोबल डिवेलपमेंट रिसर्च ने अपनी एक रिपोर्ट में कहा था कि दुनिया के आठ देश चीन से लिए गए कर्ज में फंसकर बर्बाद हो सकते हैं। इन आठ देशों में तजाकिस्तान, जिबूती, मोंटेनेग्रो, किरगिस्तान, मंगोलिया, लाओस समेत मालदीव और पाकिस्तान का नाम प्रमुखता से लिया गया था। अब यह भी स्पष्ट हो चुका है कि कर्ज नहीं अदा करने की स्थिति में चीन कर्जदार देशों पर दबाव बनाकर कई समझौतों के लिए मजबूर करता है।

More From world

Trending Now
Recommended