संजीवनी टुडे

उत्तर कोरिया के जहाजों के आवागमन पर रोक लगा सकता है अमेरिका

संजीवनी टुडे 16-12-2017 01:09:00

us will ban north korean ships

नई दिल्ली। उत्तर कोरिया के हाल में किए गए बैलिस्टिक मिसाइल परीक्षण के मद्देनजर अमेरिका ने कहा है कि वह उत्तर कोरिया के जहाजों के आवागमन पर रोक लगा सकता है। जबकि उत्तर कोरिया ने कहा है कि अमेरिका का यह कदम परमाणु युद्ध की दिशा में ‘बड़ा कदम’ होगा। 

सभी देशों का आह्वान :
अमेरिकी विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन ने सभी देशों का आह्वान किया कि वे प्योंगयांग के ‘दुष्ट शासन’ पर दबाव बनाने के लिए कदम उठाएं। उन्होंने कहा कि उत्तर कोरिया के खिलाफ अमेरिका अपने समुद्री यातायात में हस्तक्षेप के अधिकार को फिर से लागू कर सकता है। इसके तहत उत्तर कोरिया जाने या वहां से आने वाले जहाजों को अवरुद्ध किया जा सकता है।  

एटमी युद्ध की धमकी :  
टिलरसन के बयान से भड़के प्योंगयांग ने कहा है कि अमेरिका उसके जहाजों की नाकाबंदी कर युद्ध को न्योता देगा। उत्तर कोरियाई मीडिया ने कहा, अमेरिका और उसके सहयोगियों को हमारे देश के खिलाफ नौसैनिक पाबंदी लागू करने की कोशिश नहीं करनी चाहिए। ऐसे किसी कदम को हम युद्ध की कार्रवाई मानेंगे। हम आत्मरक्षा के लिए बेरहम जवाबी कदम उठाएंगे। हमने बार-बार इस संबंध में आगाह किया है। 
उत्तर कोरियाई मीडिया ने कहा, अमेरिका की ओर से हमारे जहाजों को रोकने के लिए उठाया गया कदम परमाणु युद्ध की दिशा में ‘बड़ा कदम’ होगा। प्योंगयांग अमेरिका की ओर की गई घोषणाओं को हमेशा युद्ध का एलान बताता रहा है। 

संयुक्त राष्ट्र राजी नहीं :
उत्तर कोरिया ने सितंबर में परमाणु परीक्षण किया था। यह उसका अब तक का सबसे ताजा परमाणु परीक्षण है। इसके बाद अमेरिका ने उत्तर कोरिया के जहाजों के बाहर जाने और बाहर से जहाजों के उत्तर कोरिया आने पर पाबंदी लगाने के लिए संयुक्त राष्ट्र से सहमति मांगी थी। हालांकि संयुक्त राष्ट्र ने अमेरिका की यह मांग सर्वसम्मति से नकार दी। 

जापान ने प्योंगयांग पर एकतरफा नई पाबंदी लगाई
जापान ने उत्तर कोरिया द्वारा हाल में किए गए बैलिस्टिक मिसाइल परीक्षण के खिलाफ शुक्रवार को प्योंगयांग पर एकतरफा नई पाबंदियां लगा दीं। इनमें प्योंगयांग की कंपनियों की संपत्तियां जब्त करना भी शामिल है। 

जापानी समाचार एजेंसी एफे के मुताबिक, जापान के उत्तर कोरिया पर की गई दंडात्मक कार्यवाहियों की लंबी सूची से इतर ये नई पाबंदियां लगाई गई हैं। जापान पहले ही उत्तर कोरिया की कंपनियों और किम जोंग उन शासन के वरिष्ठ अधिकारियों पर प्रतिबंध लगा चुका है। दोनों देशों के नागरिकों के एक-दूसरे के देशों में आने-जाने पर भी रोक है।

जापान के मुख्य कैबिनेट सचिव योशिहिदे सुगा ने कहा, सरकार ने उत्तर कोरिया की 19 और कंपनियों की संपत्तियों को फ्रीज कर दिया है। इनमें वित्तीय सेवाओं की कंपनियां, कोयला और तेल व्यापारी, जहाज और विदेशों में कामगारों की आपूर्ति करने वाली कंपनियां शामिल हैं। नई पाबंदी से उत्तर कोरिया की जिन कंपनियों पर प्रतिबंध लगाए गए हैं, उनकी संख्या बढ़कर 56 हो गई है। इसके साथ ही 62 लोगों को भी प्रतिबंधित किया गया है। नई पाबंदियां शुक्रवार से प्रभावी हो गईं। 

More From world

loading...
Trending Now
Recommended