संजीवनी टुडे

चीन के वुहान शहर में ट्रेन, सब-वे नेटवर्क, बस और बैंक सेवाएं फिर से शुरू, रेस्टोरेंट में बैठकर खाना खाने पर रोक

संजीवनी टुडे 30-03-2020 01:07:00

चीन के हुबेई प्रांत के जिस वुहान शहर से कोरोनावायरस दुनिया में फैला, वहां अब हालात सामान्य हो होते जा रहे हैं। शनिवार से यहां ट्रेन, सब-वे नेटवर्क, बस और बैंक सेवाएं फिर शुरू हो गईं।


बीजिंग। कोरोना वायरस के कारण दुनियाभर में आतंक मचा है और अब तक इस वायरस से 26 हजार से अधिक की जान जा चुकी है, जबकि 5 लाख से अधिक लोग संक्रमित हैं। हालाँकि चीन के हुबेई प्रांत के जिस वुहान शहर से कोरोनावायरस दुनिया में फैला, वहां अब हालात सामान्य हो होते जा रहे हैं। शनिवार से यहां ट्रेन, सब-वे नेटवर्क, बस और बैंक सेवाएं फिर शुरू हो गईं। ऑटो इंडस्ट्री समेेत कई सेक्टरों की 50 फीसदी बड़ी कंपनियों ने भी काम शुरू कर दिया।

इनके अलावा 182 मेट्रो स्टेशन खुलने से भीड़ नजर आने लगी है, अभी यहां बाहरी लोगों को प्रवेश की तो इजाजत है लेकिन, निकलने की नहीं। अधिकारियों का कहना है कि आठ अप्रैल के बाद यहां से निकलने की भी मंजूरी मिल जाएगी। वुहान में शनिवार को एक हाईस्पीड ट्रेन से 12,000 यात्री वापस आए। यात्रियों को एक सीट छोड़कर बैठाया जा रहा है। कुछ शॉपिंग स्टोर खुल चुके हैं। बाकी अगले हफ्ते तक खुल जाएंगे। 65 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को पब्लिक ट्रांसपोर्ट से परहेज करने को कहा गया है। कुल 180 बस रूट खोले जा चुके हैं।

वुहान और उससे सटे शहर हुआंगांग में कुछ होटल और रेस्टोरेंट खोल दिए गए हैं। लेकिन, यहां बैठकर खाना नहीं खा सकते। आर्डर पैक कराके घर ले जाना होगा। वही, चीन से यूरोप के लिए चलने वाली फ्रेट (मालवाहक) ट्रेन फिर शुरू हो गई है। वुहान के वुजिशान स्टेशन से शनिवार को यह ट्रेन यूरोप के लिए 166.4 टन मेडिकल सप्लाई लेकर रवाना हुई। इसमें सर्जिकल टॉवेल, प्लास्टिक बैग, मेडिकल टेबल क्लॉथ आदि थे। यह ट्रेन 15 दिन बाद जर्मनी के शहर डुईसबर्ग पहुंचेगी। पिछले साल वुहान से कुल 408 बार ट्रेन यूरोप के लिए रवाना हुईं थीं।

चीन के वुहान शहर से यूरोप के लिए चलने वाली फ्रेट ट्रेन शनिवार को फिर रवाना हुई। चीन में कोरोनावायरस को दोबारा फैलने से रोकने के लिए चीन ने विदेशियों की एंट्री बैन कर दी है। जिनके पास चीन का वीजा या रेजिडेंट परमिट पहले से है, उसे भी आने के लिए नया आवेदन देना होगा। इसके साथ ही अब यहां से हर देश के लिए हफ्ते में एक फ्लाइट जाएगी। इन फ्लाइट्स में भी 75 प्रतिशत से ज्यादा यात्री नहीं होंगे। इंटरनेशनल एयरट्रांसपोर्ट एसोसिएशन के अनुसार 23 जनवरी को जब वुहान में लॉकडाउन हुआ था, तब चीन की एविएशन इंडस्ट्री में सबसे बड़ी गिरावट आई थी।

यह भी पढ़े: कोरोना के खिलाफ जंग लड़ने के लिए रोनाल्डो सहीत फुटबॉलर्स ने दिए 753 करोड़ रूपये, जबकि गौतम गंभीर और खेल मंत्री...

यह भी पढ़े: वर्ल्ड कप जिताने वाला ये भारतीय क्रिकेटर निकला सड़कों पर, लोगों को दी घर में रहने की सलाह

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From world

Trending Now
Recommended