संजीवनी टुडे

भारत में Tik Tok बैन को मिली अमेरिका की तारीफ़, और तेज हुई चीनी एप्स बैन करने की मांग

संजीवनी टुडे 01-07-2020 14:07:40

अमेरिका के कई सांसदों ने अमेरिका में भी भारत की तरह ही चीन के एप्स को बैन करने की मांग की है।


डेस्क। डेटा सिक्योरिटी, प्राइवेसी और संप्रभुता की रक्षा का हवाला देते हुए भारत सरकार ने चीन के 59 मोबाइल अप्लिकेशंस को बैन करना का फैसला किया है। लेकिन भारत सरकार का यह फैसला हाल के दिनों में चीन से सीमा विवाद और हिंसक झड़प में 20 भारतीय सैनिकों की शहादत से प्रभावित माना जा रहा है। जो भी हो लेकिन भारत  फैसले को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भी बल मिल रहा है। यहां तक कि भारत सरकार के इस फैसले की अमेरिका में भी जमकर तारीफ़ हो रही है। 

TikTok

अमेरिका के कई सांसदों ने अमेरिका में भी भारत की तरह ही चीन के एप्स को बैन करने की मांग की है। इन सांसदों का कहना है कि चीन के वीडियो एप्स सुरक्षा के लिए बड़ा ख़तरा हैं। वॉशिंगटन पोस्ट में छपी एक ख़बर के अनुसार अमेरिका में रिपब्लिकन सीनेटर जॉन कोर्निन ने एक ट्विट में भारत के इस कदम की तारीफ़ की है।  

america-china

रिपब्लिकन के ही एक और सांसद रिक क्राउडफॉर्ड ने कहा है कि TikTok पर पाबंदी लगनी ही चाहिए थी और कल यह पाबंदी भारत ने लगा ही दी है। गौरतलब है कि पिछले सप्ताह ही अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार रोबर्ट ओ'ब्रायन ने आरोप लगाया था कि चीन सरकार अपने उद्देशयों के लिए टिकटॉक का इस्तेमाल कर रही है। 

TikTok

उन्होने कहा कि अमेरिका में चीन के सोशल मीडिया एप टिकटॉक पर कम से कम 40 मिलियन यानि 4 करोड़ लोगों का अकाउंट है। लेकिन जैसे ही इस एप पर चीन की कम्युनिष्ट पार्टी की आलोचना में कुछ कहा जाता है तो वह अकाउंट डिलीट कर दिया जाता है। अमेरिका की संसद में कम से कम दो बिल प्रस्तावित हैं जिसमें अमेरिका सरकार के अधिकारियों पर चीन के एप इस्तेमाल करने पर पाबंदी के प्रावधान हैं।  

TikTok

उल्लेखनीय है कि हाल ही में अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की रैली में लोग जुटाने के लिए टिकटॉक का सहारा लिया गया था। भारत में भी सरकार का टिकटॉक पर बाक़यदा आधिकारिक अकाउंट मौजूद था जिसको हाल ही में डिलीट कर दिया गया था। 

TikTok

आपको बता दें कि टिकटॉक ने महज 2 साल में भारतीय बाजार पर इस तरह अधिकार कर लिया है कि हर जगह बस टिकटॉक के ही चर्चे हैं। यही हाल अमेरिका और यूरोप के देशों के साथ ही पूरे एशिया का है। बीजिंग बेस्ड टेक्नॉलजी कंपनी बाइट डांस ने एक सधी रणनीति के तहत टिकटॉक को पूरी दुनिया में इस तरह फैलाया कि आज दुनियाभर में एक अरब से ज्यादा टिकटॉक यूजर हैं, जो लिप सिंग, डांस वीडियो समेत कुछ एक्टिविटीज करते हुए शॉर्ट वीडियो बनाते हैं और उसे टिकटॉप पर पोस्ट कर देते हैं। 

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब बटन

 

यह खबर भी पढ़े: बहादुरी की मिसाल/सोपोर में गोलियों की बौछार, आतंकियों ने दादा को उतारा मौत के घाट, जवानों ने 3 साल के मासूम को बचाया

यह खबर भी पढ़े: भारत में चीनी उत्पादों का पूर्ण बहिष्कार, किस हद तक रंग लायेगा ये माहौल?

 

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From world

Trending Now
Recommended