संजीवनी टुडे

सऊदी अरब: बिना बुर्के के घूम रहीं दो महिलाओं की तस्वीरें वायरल, लोगों ने दी पुलिस बुलाने की धमकी

संजीवनी टुडे 13-09-2019 18:35:06

रियाद के एक मॉल में बिना बुर्का पहने जब एक महिला गई तो उन्हें आते-जाते घूरती नजरों का सामना करना पड़ा


सऊदी अरब। सऊदी अरब में कुछ महिलाएं पारंपरिक बुर्का पहनना बंद कर रही हैं। रियाद के एक मॉल में बिना बुर्का पहने जब एक महिला गई तो उन्हें आते-जाते घूरती नजरों का सामना करना पड़ा और कुछ ने तो पुलिस बुलाने की धमकी भी दे दी।

यह खबर भी पढ़ें: ​बिल्डिंग की 9वीं मंजिल से गिरा सीए छात्र, पिता ने लगाया हत्या का आरोप, जांच में जुटी पुलिस

दरअसल इस इस्लामिक देश में काले रंग का पारंपरिक बुर्का पहनना महिलाओं के कपड़े में शुमार है और इसे महिलाओं की पवित्रता के रूप में देखा जाता है।

ARB

सउदी अरब या इस्लामिक देश में महिलाको काले रंग का बुर्का पहनना जरूरी है। इस लिबाज को महिलाओं की पवित्रता के रूप में देखा जाता है। साल 2018 में सऊदी प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान के एक इंटरव्यू के बाद ये बदलाव नज़र आ रहा है।

सोशल मीडिया पर एक मुस्लिम महिला ने बिना बुर्के की तस्वीर को शेयर किया है, जो तेजी से वायरल हो रही है। ट्विटर पर सऊदी अरब की बिना बुर्के वाली तस्वीरें वायरल हो रही हैं। मशाल-अल-जालुद नाम की ये महिला 33 साल की है, जो अबाया छोड़ वेस्टर्न कपड़ों व्हाइट ट्राउज़र और ऑरेंड रैप जैकेट में मॉल के बाहर घूमती नज़र आ रही है।

ARB

मॉल के बाहर मौजूद भीड़ उनको घूरती दिखी, लेकिन मशाल-अल-जालुद बिंदास अंदाज़ में वहां से गुज़रती है।

यहां सिर्फ मशाल-अल-जालुद ही नहीं बल्कि 25 साल की सामाजिक कार्यकर्ता मनाहेल-अल ओतैबी भी बिना बुर्का थोड़ वेस्टर्न कपड़ों व्हाइट टी-शर्ट और डेनिम डंग्री में सड़कों पर घूमती नजर आई। उन्होंने कहा कि पिछले चार महीने से रियाद में मैं बिना अबाया के रह रही हूं।

ARB

उन्होंने कहा कि मैं उसी तरह जीना चाहती हूं, जैसा मैं चाहती हूं। बिना प्रतिबंधों के मैं मुक्त जीना चाहती हूं। किसी को भी मुझे वह पहनने के लिए मजबूर नहीं करना चाहिए, जो मैं चाहती ही नहीं हूं। वहीं जालुद का कहना है कि बिना किसी स्पष्ट नियम के, बिना सुरक्षा के उन्हें खतरा हो सकता है। जुलाई में उन्होंने ट्विटर पर एक वीडियो पोस्ट किया था जिसमें उन्होंने बताया था रियाद के एक और मॉल ने उन्हें बिना अबाया के प्रवेश नहीं दिया।

ऐसा पहली बार नहीं है जब सऊदी अरब की महिलाओं ने बुर्के के खिलाफ अपनी आवाज उठाई है। इससे पहले सोशल मीडिया पर सऊदी अरब की महिलाओं ने इस तरह के प्रतिबंध के खिलाफ अबाया के बिना अपनी तस्वीरें डाली हैं।

ARB

ये तस्वीरें देख लोगों का अलग-अलग रिएक्शन आया है, कोई इनकी सुरक्षा की बात कर रहा है तो कोई इनकी हिम्मत को सलाम कर रहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From world

Trending Now
Recommended