संजीवनी टुडे

मालदीव का भारत के बयान का जबाव, कहा- हमारे आंतरिक मामलों में ना करें हस्तक्षेप

संजीवनी टुडे 23-02-2018 20:23:02

Source: Google


माले। द्वीप देश में आपातकाल की अवधि बढ़ाने पर नई दिल्ली ने गहरा क्षोभ व्यक्त किया था। माले ने इसके जवाब में भारत को ऐसी कोई कार्रवाई नहीं करने की चेतावनी दी है जिससे देश में राजनीतिक संकट के समाधान पर असर पड़े। मालदीव ने भारत को चेतावनी देते हुए अपने आंतरिक मामले में हस्तक्षेप नहीं करने को कहा है।  मालदीव की सरकार ने भारत सहित अंतरराष्ट्रीय समुदाय की चिंताओं का समाधान करने के लिए काम करने की प्रतिबद्धता व्यक्त की है।

ये भी देंखें वीडियो : बीजेपी के इस सांसद ने स्कूल में शौचालय की अपने हाथो से की सफाई

मालदीव ने कहा है कि भारत का मानना है कि और 30 दिनों के लिए आपातकाल बढ़ाया जाना असंवैधानिक है। यह स्पष्ट रूप से तथ्यों को दूसरी तरह से देखा जाना प्रदर्शित करता है। मालदीव के संविधान और कानून को नजरअंदाज किया गया है। 

मालदीव के विदेश मंत्रालय ने गुरुवार रात जारी एक बयान में कहा है कि राष्ट्रपति अब्दुल्ला यामीन की सरकार ने भारत सरकार के बयान पर ध्यान दिया है। भारत ने मालदीव के राजनीतिक घटनाक्रम के तथ्यों और उसकी बुनियादी वास्तविकताओं पर ध्यान नहीं दिया है। 

MUST WATCH

यह भी देखें: वीडियो : MP में छात्र-छात्राओं ने ली बीजेपी को वोट नहीं देने की शपथ, वीडियो हुआ वायरल

बयान में कहा गया है, 'इस बात में कोई संदेह नहीं कि मालदीव देश के इतिहास में सबसे कठिन समय का सामना कर रहा है। इसलिए यह महत्वपूर्ण है कि भारत सहित मित्र और अंतरराष्ट्रीय समुदाय में साझीदार ऐसी कार्रवाई से दूर रहें जिससे देश की स्थिति के समाधान पर असर पड़ सकता है।'

sanjeevni app

More From world

Trending Now
Recommended