संजीवनी टुडे

कश्मीर मुद्दे पर किसी से भी समर्थन नहीं मिलने से बौखलाया पाकिस्तान, ओआईसी को दे डाली चेतावनी

संजीवनी टुडे 06-08-2020 21:34:17

पाकिस्तान 57 मुस्लिम देशों के संगठन ओआईसी से कश्मीर मामले पर विदेश मंत्रियों की बैठक बुलाने का बहुत दिन से आग्रह कर रहा है।


नई दिल्ली। पाकिस्तान पर यह कहावत पूरी तरह खरी उतरती है- खिसियानी बिल्ली खंभा नोचे। जब दुनिया में किसी देश ने कश्मीर मामले में पाकिस्तान को कोई समर्थन नहीं दिया तो पाकिस्तान ने बौखलाकर आर्गेनाइजेशन आफ इस्लामिक कंट्रीज यानी ओआईसी को यह चेतावनी दे डाली है कि यदि ओआईसी कश्मीर मामले पर विदेश मंत्रियों का सम्मेलन नहीं बुलाता है तो पाकिस्तान ओआईसी के मंच को छोड़कर मुस्लिम देशों के प्रमुखों की बैठक अलग से बुलाएगा। 5 अगस्त को यौम ए इश्तेहेसाल (विरोध ) मनाने के बाद भी जब दुनिया ने पाकिस्तान को कोई तव्वजों नहीं दी तो पाकिस्तान इस स्तर पर उतर आया। 

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने समाचार चैनल एआरवाई को 5 अगस्त को दिए साक्षात्कार के दौरान यह कहा कि मैं एक बार फिर ओआईसी को आदरपूर्वक यह कहना चाहता हूं कि कश्मीर पर ओआईसी के विदेश मंत्रियों का सम्मेलन बुलाना पाकिस्तान की अपेक्षा है। यदि आप यह बैठक नहीं बुलाते मैं मजबूर हो जाउँगा कि प्रधानमंत्री इमरान खान से यह कहूं कि वे इस्लामिक देशों की कश्मीर मामले पर बैठक बुलाएं। कुरैशी ने यहां तक कह दिया कि यदि ओआईसी विदेश मंत्रियों का सम्मेलन नहीं बुलाता तो पाकिस्तान ओआईसी के इस मंच को छोड़कर अलग बैठक बुलाने के लिए तैयार है। बकौल कुरैशी कश्मीर मामले में पाकिस्तान अब और इंतजार नहीं कर सकता। 

उल्लेखनीय है कि पाकिस्तान 57 मुस्लिम देशों के संगठन ओआईसी से कश्मीर मामले पर विदेश मंत्रियों की बैठक बुलाने का बहुत दिन से आग्रह  कर रहा है। लेकिन उसका यह प्रयास हर बार विफल हुआ,  सउदी अरब इसके लिए कभी तैयार नहीं हुआ। सउदी की सरकार  ने  इसे भारत और पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय मुद्दा बताकर किनारा कर लिया। सउदी के अलावा मालदीव भी भारत के पक्ष में रहा है। 

कुरैशी ने सउदी अरब को अपने अहसान की याद दिलाते हुए कहा कि रियाद के कहने पर पाकिस्तान कुआलालम्पुर सम्मेलन में नहीं गया ताकि ओआईसी में फूट ना पड़े। कुआलालम्पुर सम्मेलन का आयोजन मलेशिया में महातिर मोहम्मद की सरकार ने किया था। पाकिस्तान के विदेश मंत्री ने यह भी कहा कि ओआईसी को यह चेतावनी भावनाओं में बहकर नहीं दे रहे हैं, उन्हें मालूम है कि इसका असर क्या होगा। लेकिन अब पाकिस्तान कश्मीर मामले में खामोश नहीं रह सकता। दुनिया भर में इस समय कश्मीर मामले पर केवल टर्की ही पाकिस्तान के साथ है। इससे पाकिस्तान ज्यादा बौखलाया हुआ है।

यह खबर भी पढ़े: एलएसी के नजदीक चीनी ने 40 हजार सैनिकों के साथ​ शुरू किया युद्धाभ्यास, गोला-बारूद से लैस हैं सैनिक

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From world

Trending Now
Recommended