संजीवनी टुडे

भारत में होगा नई टेक्नोलॉजी F-35 फाइटर जेट्स, अमेरिकी कंपनी ने देने की पेशकश

संजीवनी टुडे 22-01-2018 16:55:55

New technology F35 fighter jets will be offered to the US company in India

नई दिल्ली। अमेरिका की हथियार बनाने वाली कंपनी लॉकहीड मार्टिन ने शनिवार को भारत में F-35 फाइटर जेट्स बनाने की पेशकश की है। कंपनी का कहना है कि उसका मकसद भारतीय इंडस्ट्रीज को दुनिया के सबसे बड़े फाइटर एयरक्राफ्ट सिस्टम में शामिल करना है। बता दें कि भारत पिछले काफी वक्त से फाइटर जेट्स खरीदने का प्लान बना रहा है। इससे पहले अमेरिकी कंपनी बोइंग भी भारत में ही जेट्स बनाने का ऑफर दे चुकी है।

नई टेक्नोलॉजी से लैस होंगे एयरक्राफ्ट
 F-35 में एडवांस ASEA रडार के साथ, मॉडर्नाइज्ड कॉकपिट भी होगी। इसमें एडवांस वेपन्स, लॉन्ग रेंज के लिए बड़ी फ्यूल टैंक्स और एडवांस इंजन भी मिलेगा। लाल ने बताया कि जेट में 2 हजार पाउंड के टारगेटिंग सिस्टम JDAMs होने के बावजूद एयरक्राफ्ट का मिशन रेडियस 1300 किलोमीटर तक है जो कि अपने करीबी कॉम्पटीटर्स से 30% ज्यादा है। वहीं ASEA रडार 20 सालों से भी ज्यादा की मेहनत और इन्वेस्टमेंट से बनाई गई है और अब ये टेक्नोलॉजी पूरी तरह से ऑपरेशनल है।

यह भी पढ़े: गांव की लड़की ने शादी में सपना चौधरी से भी अच्छा किया डांस

5th जेनरेशन फाइटर जेट्स मिल सकते है भारत को
विवेक लाल के मुताबिक, दुनिया का कोई भी 4th जेनरेशन फाइटर जेट लॉकहीड मार्टिन की ऑपरेशनल क्षमताओं के आगे नहीं ठहरता और भारत को दिए जाने वाले F-35 एयरक्राफ्ट ‘स्टेट ऑफ द आर्ट’ फाइटर जेट्स हैं। उन्होंने कहा कि भारत के लिए बनाए जाने वाले फाइटर जेट्स में F-22 और F-35 की टेक्नोलॉजी भी जोड़ी जाएंगी।

यह भी पढ़े: Parineeti Chopra Hot Dance move goes VIRAL on social media

MUST WATCH

लॉकहीड मार्टिन के वाइस प्रेसिडेंट विवेक लाल ने कहा, “हम इंटरनेशनल फाइटर एयरक्राफ्ट मैन्युफैक्चरिंग की डिक्शनरी में दो नए शब्द जोड़ना चाहते हैं- इंडिया और एक्सक्लूसिव।”उन्होंने बताया कि भारत में बनें फाइटर जेट्स कस्टम मेड यानी खासकरभारत के हिसाब से बनाए जाएंगे। इनका प्रोडक्शन सिर्फ भारत के लिए ही होगा। अबतक किसी भी एयरक्राफ्ट मैन्युफैक्चरर ने ऐसा ऑफर पेश नहीं किया है।  इंडिया-मेड फाइटर जेट्स को एक्सपोर्ट करने के लिए भी भारत के पास काफी ऑप्शन्स होंगे, क्योंकि अभी किसी भी देश के पास ऐसी टेक्नोलॉजी नहीं है। 

More From world

loading...
Trending Now
Recommended