संजीवनी टुडे

नौसेना प्रमुख ने दिया बड़ा बयान, LOC पर चीन से निपटने के लिए पूरी तरह तैयारी है भारतीय सेना

संजीवनी टुडे 03-12-2020 14:25:41

देश के सामने कोरोना और सीमा पर चीन से निपटने की चुनौती है और नौसेना इसके लिए पूरी तरह तैयार है।


नई दिल्ली। लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (एलएसी) पर मई महीने से अभी भी हालत तनावपूर्ण बने हुए हैं। भारतीय सेना हर स्तर पर चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) को जवाब देने के लिए तैयार है। भारतीय नौसेना प्रमुख एडमिरल करमबीर सिंह ने गुरुवार को कहा कि हम चीनी सेना की हर गतिविधि पर नजर बनाए हुए हैं। चीन के साथ जारी संघर्ष में नौसेना की भूमिका पर नौसेना प्रमुख ने कहा कि नौसेना की गतिविधियां भारतीय सेना और भारतीय वायु सेना के साथ निकट समन्वय और तालमेल में है।

चीन के साथ सीमा पर मई महीने से ही तनाव जारी है। दूसरी तरफ, पश्चिमी सीमा पर पाकिस्तान भी लगातार घुसपैठ की कोशिश कर रहा है। ऐसे में 'नौसेना दिवस' के एक दिन पूर्व गुरुवार को नौसेना प्रमुख एडमिरल करमबीर सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि देश के सामने कोरोना और सीमा पर चीन से निपटने की चुनौती है और नौसेना इसके लिए पूरी तरह तैयार है। 

Indo-China border dispute

नौसेना प्रमुख ने कहा कि कोरोना वायरस के साथ साथ वास्तविक नियंत्रण रेखा पर चीन के प्रयास दोहरी चुनौती है। नौसेना एक साथ इन दोनों चुनौतियों का सामना करने के लिए तैयार है। एक तरफ चीन के साथ सीमा पर मई महीने से ही तनाव जारी है। दूसरी तरफ, पश्चिमी सीमा पर पाकिस्तान भी लगातार घुसपैठ की कोशिश कर रहा है।

इन दोनों चुनौतियों का सामना करने के लिए नौसेना तैयार है। अगर चीन की ओर से उल्लंघन होता है तो स्थिति से निपटने के लिए हमारे पास एक एसओपी है। लीज पर लिए गए 2 शिकारी ड्रोन हमारी निगरानी में कैपेबिलीटी गैप को पूरा करने में हमारी मदद कर रहे हैं। यदि सेना और आईएएफ को पूर्वोत्तर में जरूरत पड़ती है, तो हम इस पर विचार कर सकते हैं। नौसेना की गतिविधियां भारतीय सेना और भारतीय वायु सेना के साथ तालमेल बैठाए हुए हैं।

Indo-China border dispute

बता दें कि दुनिया के सामने शराफत का मुखौटा लगाने वाला चीन समय-समय पर बेनकाब भी होता रहा है। हाल ही में संयुक्त राज्य अमेरिका के शीर्ष पैनल ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि चीन की सरकार ने जून में गलवान की घटना को भी योजना के तहत अंजाम दिया था। बीजिंग ने अपने पड़ोसियों के खिलाफ बहुपक्षीय अभियान चलाया था, जिससे जापान से लेकर भारत तक के सैन्य और अर्धसैनिक बल के लोग भड़क उठे। 

रिपोर्ट में लिखा गया, "जून 2020 में, PLA और भारतीय सेना ने वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) के पास पश्चिमी लद्दाख क्षेत्र में स्थित गाल्वन घाटी में भारी पैमाने पर उत्पात मचाया। ये झड़प मई की शुरुआत में एलएसी के कई क्षेत्रों के साथ गतिरोध की एक श्रृंखला के बाद हुई और इसमें कम से कम 20 भारतीय सैनिकों की जान गई और चीन के सैनिकों को लेकर कोई पुष्टी नहीं हुई है। 1975 के बाद पहली बार दोनों पक्षों के बीच ये बवाल हुआ है।

यह खबर भी पढ़े: दिल्ली चलो मार्च LIVE/ किसानों और सरकार के बीच चौथे राउंड की बैठक जारी, पंजाब के पूर्व CM प्रकाश सिंह बादल ने लौटाया पद्म विभूषण

 

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From world

Trending Now
Recommended