संजीवनी टुडे

भारत के स्वतंत्रता संग्राम सेनानी का मिला लंदन मे सिर

संजीवनी टुडे 23-04-2018 10:16:20

नई दिल्ली। लंदन के एक पब मे खोपड़ी मिली जो दुनियाभर में सुर्खियों में है राष्ट्रीय मस्तिष्क शोध संस्थान (एनबीआरसी) के वैज्ञानिकों का कहना है कि यह खोपड़ी भारत के स्वतंत्रता संग्राम सेनानी कानपुर (यूपी) निवासी आलम बेग की है। करीब 165 वर्ष बाद जब लंदन के इतिहासकारों तक यह खबर पहुंची तो दायीं आंख में एक पर्ची मिली थी इस पर लिखा था यह खोपड़ी भारत के आलम बेग की है यहीं से आलम बेग का सिर दुनियाभर में सुर्खियों में आया।


वैज्ञानिकों ने खोपड़ी में कई ज्वाइंट्स और हड्डियों का आंकलन करने के बाद निष्कर्ष निकाला है कि जिस व्यक्ति का यह स्कल है उसकी आयु मृत्यु के समय करीब 32 वर्ष रही होगी शरीर की लंबाई करीब 5 फुट साढ़े 7 इंच होगी। स्वतंत्रता संग्राम सेनानी आलम बेग से जुड़े इतिहास पर गौर करें तो शोध काफी हद तक मिलता है।

मंगल पांडे की तरह आलम बेग भी ईस्ट इंडिया कंपनी की 46वीं बंगाल बटालियन के जवान थे उन्होंने भी अंग्रेजों के खिलाफ आजादी के लिए लड़ाई लड़ी थी गिरफ्तार होने के बाद अंग्रेजों ने उन्हें तोप से बांधकर उड़ा दिया था। इसलिए सरकार को जल्द से जल्द इसे वापस लाना चाहिए एम्स पटना के एनॉटमी विभाग के डॉ आशुतोष ने कहा कि इतिहास के मुताबिक उस वक्त कैप्टन एआर कास्टेलो उनके सिर को ट्रॉफी के रूप में लंदन ले गया था लंदन पहुंचने के बाद उनकी खोपड़ी को किसी सैन्य अधिकारी के पब में रखा गया था।

जयपुर में प्लॉट मात्र 2.40 लाख में Call: 09314166166

MUST WATCH

डॉ आशुतोष ने बताया कि लंदन के इतिहासकारों ने भारत सरकार से स्कल मंगाने की बात कही थी। इसके बाद उन्होंने संपर्क कर उससे जुड़ी तमाम तस्वीरें भेजने का आग्रह किया था। तस्वीरें मिलने के बाद डॉ. आशुतोष और एनबीआरसी की टीम ने शोध शुरू किया। फ्यूजन की मदद से उन्होंने स्कल और आलम बेग की शारीरिक बनावट का मिलान किया। वैज्ञानिकों का कहना है कि 165 वर्ष पुरानी खोपड़ी की पहचान के लिए उनके पास दो चिकित्सीय विकल्प थे एक डीएनए और दूसरा फ्यूजन टेस्ट वैज्ञानिकों ने सरकार से मांग की है कि स्वतंत्रता सेनानी आलम बेग का सिर ससम्मान लाकर यहां संग्रहालय में रखा जाना चाहिए।

 

Rochak News Web

More From world

Trending Now