संजीवनी टुडे

पाकिस्तान की EU संसद में भी हुई बेइज्जती, सांसदों ने फटकार लगाते हुए कहा- चांद से नहीं आते आतंकी

संजीवनी टुडे 18-09-2019 17:02:34

गौरतलब है कि हाल ही में पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद में भी कश्मीर के मुद्दे को उठाया था पर उसे निराशा हाथ लगी।


फ्रांस। कश्मीर मुद्दे पर आधारहीन और दुर्भावनापूर्ण बातें प्रचारित कर अंतरराष्ट्रीय मुद्दा बनाने की कोशिशों में जुटे पाकिस्तान को यूरोपीय संसद से तगड़ा झटका लगा है। यूरोप की संसद में कई सांसदों ने एक सुर में पाकिस्तान की तीखी आलोचना की है।

यह खबर भी पढ़े:त्योहारी सीजन से पहले रेलवे कर्मचारियों को सरकार का तोहफा, मिलेगा इतने दिनों का बोनस

सांसदों कहा कि हमें भारत का समर्थन करना चाहिए क्योंकि पाकिस्तान में आतंकियों को संरक्षण मिलता है और वे पड़ोसी देश में हमले करते हैं। आपको बता दें कि जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 खत्म किए जाने के बाद पाक इसे अतंरराष्ट्रीय मंचों पर उठा रहा है लेकिन उसका प्रॉपेगैंडा हर बार नाकाम हो रहा है।

यूरोपीय संसद ने 11 साल में पहली बार कश्मीर के मुद्दे पर चर्चा की और खुले तौर पर भारत का समर्थन किया। इस दौरान आतंकवाद पर पाकिस्तान की निंदा भी की गई। संसद में चर्चा के दौरान पोलैंड के नेता और EU सांसद रिजार्ड जार्नेकी ने कहा कि भारत दुनिया का सबसे महान लोकतंत्र है। हमें भारत के जम्मू-कश्मीर राज्य में होने वाली आतंकी घटनाओं पर गौर करने की जरूरत है। उन्होंने साफ कहा कि ये आतंकी चांद से नहीं आते हैं। वे पड़ोसी देश (पाकिस्तान) से ही आ रहे हैं। ऐसे में हमें भारत को समर्थन देना चाहिए।

वही उधर, इटली के नेता और EU सांसद फुलवियो मार्तुसिलो ने कहा कि पाकिस्तान परमाणु हथियारों का इस्तेमाल करने की धमकी दे रहा है। उन्होंने स्थानीय हमलों का जिक्र करते हुए कहा कि पाकिस्तान ही है, जहां आतंकी साजिश रचकर यूरोप में हमलों को अंजाम देते हैं। आखिर में EU संसद ने कहा कि कश्मीर के मुद्दे पर भारत और पाकिस्तान को बात करनी चाहिए और इसका शांतिपूर्ण हल निकालने की कोशिश की जानी चाहिए।

यह खबर भी पढ़े:पीएम मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल का बड़ा फैसला, ई-सिगरेट-हुक्का पर लगाया पूर्ण प्रतिबंध!

गौरतलब है कि हाल ही में पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद में भी कश्मीर के मुद्दे को उठाया था पर उसे निराशा हाथ लगी। रिपोर्टों में बताया गया है कि यूरोपीय संसद ने कश्मीर मसले को द्विपक्षीय मुद्दा माना है और स्पष्ट कहा कि उसकी इस मामले में कोई भूमिका नहीं है।

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From world

Trending Now
Recommended