संजीवनी टुडे

हांग कांग के प्रदर्शनकारियों ने पार्क की ओर किया रुख

संजीवनी टुडे 17-06-2019 20:08:19

हांगकांग में विरोध के मद्देनजर प्रत्यर्पण विधेयक को अनिश्चितकाल के लिए निलंबित कर दिया गया है, लेकिन प्रदर्शनों का सिलसिला रुकने का नाम नहीं ले रहा है। प्रदर्शनकारी अब विधेयक को रद्द करने और मुख्य प्रशासक के इस्तीफे की मांग कर रहे हैं।


हांगकांग। हांगकांग में विरोध के मद्देनजर  प्रत्यर्पण विधेयक को अनिश्चितकाल के लिए निलंबित कर दिया गया है, लेकिन प्रदर्शनों का सिलसिला रुकने का नाम नहीं ले रहा है। प्रदर्शनकारी अब विधेयक को रद्द करने और मुख्य प्रशासक के इस्तीफे की मांग कर रहे हैं। इस बीच सोमवार को पुलिस से किसी भी तरह के टकराव से बचने के लिए प्रदर्शनकारी खाली पार्क की ओर रवाना हो गए।


समाचार एजेंसी एपी के मुताबिक, प्रदर्शनकारी अब हांगकांग की मुख्य प्रशासक कैरी लैम के इस्तीफे की मांग कर रहे हैं। वे सोमवार सुबह हांगकांग की विधान परिषद के बाहर एक स्थान पर एकत्रित हुए। विदित हो कि प्रदर्शनकारियों ने लाम की माफी को अस्वीकार कर दिया है।

पूर्व विधायक और कार्यकर्ता ली चेउक-यान ने कहा, ‘‘ हम निराश हैं कि कैरी लैम ने प्रदर्शनकारियों की मांगों पर गौर नहीं किया, लेकिन अब रणनीति पर बात करने का समय आ गया है कि कैसे पूरे संघर्ष को दीर्घकालिक संघर्ष में बदला जाए। कैरी अगर प्रदर्शनकारियों की पांच मांगों पर गौर नहीं करतीं है तो, लोग वापस आएंगे और संघर्ष जारी रहेगा।’’ 

प्रदर्शनकारियों ने हांगकांग निवासियों से कक्षाओं और काम का बहिष्कार करने को भी कहा है। हालांकि यह स्पष्ट नहीं है कि कितने लोगों ने इसे स्वीकार किया है।

इस बीच, सोमवार को जेल से बाहर आते ही हांगकांग के प्रमुख लोकतंत्र समर्थक कार्यकर्ता जोशुआ वोंग ने शहर की बीजिंग समर्थक नेता कैरी लैम से इस्तीफा देने की मांग की। आयोजकों ने बताया कि करीब 20 लाख लोगों ने रविवार को भीषण गर्मी के बावजूद कैरी लाम के इस्तीफे की मांग को लेकर मार्च किया।

उधर, चीन की सरकारी मीडिया इस पूरे प्रकरण  को लेकर चुप्पी साधे हुई है। प्रदर्शनों के बारे में न तो चीन के सरकारी प्रसारक सीसीटीवी के मुख्य समाचार बुलेटिनों में दिनभर कोई खबर आई और न ही सोशल मीडिया मंचों पर रैली का जिक्र या कोई तस्वीर दिखाई दी। 

मात्र 260000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166 

More From world

Trending Now
Recommended