संजीवनी टुडे

जार्ज फ़्लॉयड मेमोरियल : भारी जनसमुदाय ने कहा अलविदा

संजीवनी टुडे 05-06-2020 16:37:17

देश भर में नस्लभेद को लेकर नए सिरे से बहस को जन्म देने वाले हथियार विहीन अश्वेत जार्ज फ़्लॉयड (46 वर्ष) को गुरुवार को मिनियापोलीस चर्च में एक मेमोरियल सर्विस में परिजनों ने अंतिम विदाई दी।


लॉस एंजेल्स । देश भर में नस्लभेद को लेकर नए सिरे से बहस को जन्म देने वाले हथियार विहीन अश्वेत जार्ज फ़्लॉयड (46 वर्ष) को गुरुवार को मिनियापोलीस चर्च में एक मेमोरियल सर्विस में परिजनों ने अंतिम विदाई दी। इस अवसर पर जार्ज फ़्लॉयड के परिवार में माँ, भाई तथा अन्यान्य परिजनों ने सरकार से न्याय की गुहार लगाई। 

उन्होंने कहा है कि जार्ज फ़्लॉयड की हत्या नस्लवाद और अश्वेत समुदाय के प्रति घृणा और पक्षपात के कारण हुई है। इस अवसर पर मौजूद लोगों ने आठ मिनट 46 सेकेंड खड़े होकर उन्हें भाव भीनी श्रद्धांजलि दी। इस अवसर पर क्षेत्र की सिनेटर, स्टेट गवर्नर, मेयर, कामेडियन केविन हार्ट, क़ालीन जैक्सन और सिने नायिका टिफनी हादिश और ग्वेन कार मौजूद थी। नार्थ सेंट्रल यूनिवर्सिटी स्थित एक पार्क में जार्ज फ़्लॉयड का पूर्ण सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। 

इस अवसर पर अफ़्रीकी अमेरिकी समुदाय के प्रतिनिधि रेव्रंड अल शरपटान मौजूद थे। उन्होंने इस अवसर पर कहा कि अब समय आ गया है कि अब पुलिस कर्मियों के लिए अश्वेत की गर्दन पर घुटने के बल पर उन्हें हमेशा के लिए सुला देना संभव नहीं होगा। अब इस घुटने के बल के नियम से निजात पानी ही होगी। अब शिक्षा का मसला हो अथवा स्वास्थ्य सेवाओं का, पक्षपात को बर्दाश्त नहीं किया जा सकता। 

उन्होंने घोषणा की कि नस्लभेद के ख़िलाफ़ एक बड़ी लड़ाई लड़ने वाले अश्वेत नेता मार्टिन लूथर किंग की स्मृति में वाशिंगटन डी सी में २८ अगस्त को जो रैली होगी, उसमें वह अश्वेत, श्वेत, लेटिनो अथवा एशियाई लोगों से अपील करेंगे कि नस्लीय पक्षपात से मुक्ति के लिए तैयार हो जाएँ। जार्ज के अनुज फयलोनसे ने कहा कि उन्होंने ग़रीबी में दिन गुज़ारे हैं, लेकिन किसी के साथ अहित नहीं किया। उन्हें अपने भाई की हत्या का न्याय चाहिए। 

यह खबर भी पढ़े: दिल्ली पुलिस ने कहा- जामिया हिंसा सोची समझी योजना, 12 जून को सुनवाई करेगा दिल्ली हाईकोर्ट

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From world

Trending Now
Recommended