संजीवनी टुडे

पाकिस्तान को सता रहा काली सूची में रखे जाने का डर

संजीवनी टुडे 12-06-2019 21:15:38

पाकिस्तान को एफएटीएफ की काली सूची में डाले जाने का डर सताने लगा है। संस्था की अगली बैठक 16 से 21 जून के बीच फ्लोरिडा के ओरलैंडो में होने वाली है। माना जा रहा है कि इस बैठक में पाकिस्तान को काली सूची डाले जाने के लिए प्रस्ताव लाया जाएगा। यह जानकारी बुधवार को मीडिया रिपोर्ट से मिली


पेरिस। पाकिस्तान को  एफएटीएफ की काली सूची में डाले जाने का डर सताने लगा है। संस्था की अगली बैठक 16 से 21 जून के बीच फ्लोरिडा के ओरलैंडो में होने वाली है। माना जा रहा है कि इस बैठक में पाकिस्तान को काली सूची डाले जाने के लिए प्रस्ताव लाया जाएगा। यह जानकारी बुधवार को मीडिया रिपोर्ट से मिली।

विदित हो कि एफएटीएफ के वर्तमान में कुल 36 सदस्य देश हैं। ऐसे में पाकिस्तान को काली सूची में डाले जाने से बचने के लिए कम से कम तीन सदस्य देशों के वोट की जरूरत होगी. वहीं, मौजूदा स्थिति ग्रे सूची से बाहर आने के लिए पाकिस्तान को 36 में से 15 सदस्य देशों के वोट की आवश्यकता होगी।

अगर ओरलैंडो की बैठक में पाकिस्तान को ब्लैक लिस्ट करने का फैसला ले लिया गया तो इसकी औरचारिक घोषणा अक्टूबर, 2019 में की जाएगी। 18-23 अक्टूबर, 2019 को एफएटीएफ की अगली बैठक पेरिस में होगी। पाकिस्तान को ब्लैक लिस्ट करने का अंतिम फैसला यहीं पर लिया जाएगा।

विदेश मामलों के जानकारों का कहना है कि एफएटीएफ अगर पाकिस्तान को ब्लैक लिस्ट कर देता है तो उसके लिए यह और भी घातक साबित होगा। ‘एफएटीएफ की काली सूची में शामिल होने से पाकिस्तान पर इसका गहरा आर्थिक प्रभाव पड़ेगा। इसके बाद संभव है कि पाकिस्तान को अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ ) से मिलने वाले 6 अरब डॉलर के क़र्ज़ पर भी रोक लग जाए। आईएमएफ ने पाकिस्तान को धनशोधन और आतंकवाद के वित्त पोषण रोकने के लिए उचित कदम उठाने की बात कही थी, जिसमें वह नाकाम साबित हुआ है।आईएमएफ से कर्ज लेने के लिए एफएटीएफ से हरी झंडी मिलना जरूरी होता है। ऐसे में इस वैश्विक संस्था से पाकिस्तान को छह अरब अरब डॉलर के बेलआउट पैकेज पर ग्रहण लग सकता है।

मात्र 220000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314188188

 

 

More From world

Trending Now
Recommended