संजीवनी टुडे

पाकिस्तान की इमरान सरकार से ईशनिंदा कानून को रद्द करने की मांग

संजीवनी टुडे 24-09-2020 18:18:17

ऐसे केस जिसमें ईशनिंदा साबित नहीं हो सकी, उसमें गैर न्यायिक हत्या, मॉब लिंचिंग और हिंसात्मक विरोध करके अल्पसंख्यकों को निशाना बनाया गया।


ढाका। बांग्लादेश क्रिश्चियन एसोसिएशन ने पाकिस्तान में गिरफ्तार हो रहे ईसाइयों और अन्य अल्पसंख्यकों पर चिंता जाहिर की तथा पाकिस्तान की इमरान सरकार से यह मांग की कि ईशनिंदा कानून को रद्द किया जाए तथा ईशनिंदा कानून के तहत जिन लोगों को गलत और झूठे आरोपों के साथ गिरफ्तार किया गया है उनको सम्मान के साथ रिहा किया जाए।

इमरान खान को संबोधित करते हुए ढाका में स्थित पाकिस्तान हाई कमीशन के तरफ से एक चिट्ठी आई है, जिसमें कहा गया है पाकिस्तान सरकार, क्रिश्चियन और अन्य अल्पसंख्यकों की ईशनिंदा कानून के तहत जो गिरफ्तारियां हुई हैं, उन लोगों को रिहा करे। साथ ही ईशनिंदा कानून के तहत जिन लोगों को मौत की सजा तय की गई है, उनको दयालुता का सलूक किया जाए।

चिट्ठी में आगे कहा गया है कि ईशनिंदा पाकिस्तान में एक विवादित मुद्दा रहा है, जिसकी वजह से सैकड़ों पाकिस्तानी क्रिश्चियन देश से भाग गए ताकि वह ईशनिंदा कानून से बच सकें और जीवित रह सकें।

ऐसे केस जिसमें ईशनिंदा साबित नहीं हो सकी, उसमें गैर न्यायिक हत्या, मॉब लिंचिंग और हिंसात्मक विरोध करके अल्पसंख्यकों को निशाना बनाया गया।

यह खबर भी पढ़े: संजय दत्त की पत्नी मान्यता ने शेयर की खास तस्वीर, यूजर ने लिखा- 'मुझे आपके... से प्यार है मान्यता'

यह खबर भी पढ़े: भारत सरकार ने नेपाल को दी 1.54 बिलियन नेपाली रुपये की मदद

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From world

Trending Now
Recommended