संजीवनी टुडे

Covid-19: भारत ने अमेरिका से किया हिसाब बराबर, अनाज के बदले भेजी दवा

संजीवनी टुडे 10-04-2020 13:23:26

कोरोना से परेशान अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भारत से मलेरिया रोधी हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन दवा मांगी थी।


डेस्क। कोरोना वायरस से अमेरिका में बुरे हाल है और वहां अब तक 16 हजार से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। कोरोना से परेशान अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भारत से मलेरिया रोधी हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन दवा मांगी थी। भारत ने भी ट्रंप की अपील मानी और वॉशिंगटन को हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन दवाई भेजी। 

आपको याद दिला दें कि कुछ इसी तरह एक वक्त ऐसा था जब भारत ने अनाज की कमी से निपटने के लिए अमेरिका से मदद मांगी थी। वहीं अब अमेरिका ने कोरोना से जंग में भारत की मदद मांगी और देश इससे पीछे भी नहीं हटा। इस प्रकार ने अमेरिका से लिए पहले के कर्ज का हिसाब बराबर कर दिया है। 

बात सन 1951 की है जब में भारत के तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने अनाज की कमी से जूझ रहे देश के लिए अमेरिका से मदद मांगी थी और तब अमेरिका ने भारत को सहयोग दिया था। 12 फरवरी 1951 को तत्कालीन अमेरिकी राष्ट्रपति हैरी एस ट्रूमैन ने भारत को अनाज की कमी से निपटने के लिए 20 लाख टन आपात मदद की अनुशंसा की थी। उस समय हैरी एस ट्रूमैन ने कहा था कि हम भारत की अपील पर बहरे बने नहीं रह सकते हैं। 

उन्होंने तब कहा था कि भारत के लोगों के प्रति हमारी दोस्ती और लोगों को भूखे नहीं रहने देने की हमारी चिंता ही हमें यह कदम उठाने को प्रेरित कर रही है। उस समय अमेरिका ने इसलिए मदद की थी क्योंकि वो भारत को एहसास दिलाना चाहता था कि नई दिल्ली का असली हित पश्चिमी देशों संग है। 

दरअसल उस समय भारत की चीन की नीतियों को लेकर तल्ख था, फिर भी अमेरिकी कांग्रेस ने लंबी बहस के बाद भारत को अनाज भेजने को अपनी रजामंदी दी। जाहिर है कि 1951 और 2020 तक अब समय काफी बदल गया है। भारत और अमेरिका के बीच अब रिश्ते काफी अच्छे हैं। 

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब बटन

 

इस बात का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप कई बार पीएम मोदी की तारीफ कर चुके हैं और अब अमेरिका भी भारत का लोहा मानता है। भारत आज खाद्यान उत्पादन में आत्मनिर्भर हो चुका है और कई चीजों का निर्यात भी करता है। हाल ही में भारत ने अमेरिका को हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन भेजी है जिसकी ट्रंप ने काफी तारीफ की थी।

यह खबर भी पढ़े: COVID-19: चीन में कोरोना वायरस का दोबारा हमला, 1000 नए मामले सामने आये, 2 की मौत

यह खबर भी पढ़े: पाकिस्तान के बाद फिनलैंड को भी लगाया चीन ने चूना, 20 लाख खराब मास्क भेजे

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From world

Trending Now
Recommended