संजीवनी टुडे

Corona virus: कोरोना वायरस का आक्रमण होने पर शरीर पर होने लगता है ऐसा असर

संजीवनी टुडे 27-03-2020 12:24:05

चीन से फैले कोरोना वायरस का भारत समेत दुनियाभर के कई देशों में कहर बरस रहा हैं। अब भारत में भी इस महामारी ने अपना विकराल रूप दिखाना शुरू कर दिया है। देश में अब तक कुल संक्रमितों की संख्या 700 के पार हो चुकी है। जबकि ये वायरस 17 लोगों की जान ले चुका है।


नई दिल्ली। चीन से फैले कोरोना वायरस का भारत समेत दुनियाभर के कई देशों में कहर बरस रहा हैं। अब भारत में भी इस महामारी ने अपना विकराल रूप दिखाना शुरू कर दिया है। देश में अब तक कुल संक्रमितों की संख्या 700  के पार हो चुकी है। जबकि ये वायरस 17 लोगों की जान ले चुका है। और विश्वभर में अब तक 24,000 से ज्यादा लोगों की जान ले चुका हैं और इस वायरस 5 लाख से अधिक लोगों को अपनी चपेट में ले चूका हैं। आप ये तो जानते हैं कि ये वायरस जानलेवा भी साबित हो रहा है, लेकिन क्या आप जानते हैं कि ये शरीर को कैसे अटैक करता है? आइए आपको बताते हैं कि आखिर ये वायरस आपके शरीर पर कैसे असर डालता है। 

corona

कैसे करता है कोरोना वायरस अटैक

जानकारी के अनुसार आपको बता दे की ये वायरस आपके शरीर में तब प्रवेश करता है जब आप संक्रमित बूंदों को सांस के द्वारा अंदर खींच लेते हैं या फिर आप किसी संक्रमित सतह को छू लेते हैं और फिर उन्हीं हाथों से अपनी आंखें, मुंह या नाक छूते हैं। इसके बाद वायरस के कण गले तक पहुंच जाते हैं और कोशिकाओं पर छिपक जाते हैं और अपनी आनुवंशिक सामग्री कोशिकाओं में ट्रांसफर कर देते हैं। जिससे मानव कोशिकाएं ऐसे कारखाने में तबदील हो जाती है जो और ज़्यादा वायरस कणों का उत्पादन करने लगती है।

इम्यून सिस्टम ऐसे लड़ता है : जैसे-जैसे वायरस बढ़ने लगता है, यह गले के नीचे चला जाता है। जिससे बुख़ार और खांसी शुरू हो जाती है। जो इस बात का संकेत है कि इम्यून सिस्टम इस वायरस से लड़ रहा है। कोरोना वायरस से संक्रमित कई लोगों में इसके लक्षण बिल्कुल नहीं दिखते हैं। 

फेफड़ों को करता है दुर्बल: गंभीर मामलों में, जब वायरस फेफड़ों में पहुंचता है, तो यह सूजन यानी इंफ्लामेशन को पैदा करता है। जिससे फेफड़ों को रक्तप्रवाह में ऑक्सीजन भेजने में कठिनाई आती है। इस वजह से फेफड़ों में पानी भरना शुरू हो जाता है और सांस लेने में मुश्किल आने लगती है। कई मरीज़ों को सांस लेने में मदद के लिए वेंटीलेटर का सहारा लेना पड़ता है।

corona virus  

कोरोना का गंभीर रूप: चीन के डाटा के अनुसार, ऐसा कोरोना वायरस के 7 में से एक मरीज़ के साथ होता है। कोरोना वायरस की वजह से जिन लोगों ने जान गंवाई हैं या गंभीर हालत में हैं, उनमें से ज़्यादातर पहले से ही किसी बीमारी से ग्रस्त थे, जिसकी वजह से उनका इम्यून सिस्टम काफी कमज़ोर था। गंभीर रूप से बीमार होने वाले 6% लोगों में, फेफड़े की सूजन इतनी गंभीर है कि शरीर को जीवित रहने के लिए पर्याप्त ऑक्सीजन प्राप्त करने के लिए संघर्ष करना पड़ता है। 

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब बटन

 

क्या हैं शुरुआती लक्षण: 

कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्ति में शुरुआती लक्षण बेहद साधारण होते हैं। इस दौरान व्यक्ति को बुखार आता है और बहुत ज़्यादा थकावट होती है। साथ ही रोगी को सूखी खांसी होती है। इसके अलावा कई लोगों में डायरिया जैसी भी शिकायतें देखने को मिली हैं।

ऐसे करें बचाव: ऐसे वक्त में ये बेहद ज़रूरी है कि सभी सार्वजनिक स्वास्थ्य सलाह का पालन करके अपनी रक्षा करें। जिसमें सामाजिक दूरी बनाना और स्वच्छता बनाए रखना भी शामिल है। 

यह खबर भी पढ़े: कोरोना वायरस के साथ ही भारत पर मंडराया एक और खतरा...

मात्र 289/- प्रति sq. Feet में जयपुर में प्लॉट बुक करें 9314166166

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From world

Trending Now
Recommended