संजीवनी टुडे

आतंकवाद पर बदल रहा चीन का रुख

संजीवनी टुडे 19-03-2019 20:16:45


बीजिंग। जैश-ए-मोहम्मद के प्रमुख मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करवाने के भारतीय प्रयासों मेंं पलीता लगाने वाले चीन का नजरिया कुछ बदला दिख रहा है। ड्रैगन ने ने पहली बार माना है कि मुंबई पर 2008 में लश्क र-ए-तैयबा का हमला दुनिया के सबसे भयावह हमलों में से एक है। 


समाचार एजेंसी शिन्हुआ के मुताबिक, शियानजियांग प्रांत में उग्रवादियों के खिलाफ की जा रही कार्रवाई पर जारी श्वेत पत्र में चीन ने कहा कि पिछले कुछ वर्षों में वैश्विक स्तर पर आतंकवाद एवं उग्रवाद के फैलने से मानवता को पीड़ा पहुंची है। इसी श्वेत पत्र में मुंबई के आतंकवादी हमले को अति कुख्यात आतंकवादी हमलों में से एक बताया गया है।

मात्र 240000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

उल्लेखनीय है कि चीन ने यह पत्र ऐसे समय में निकाला है जब पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी चीन के दौरे पर हैं। चीन के इस पत्र का शीर्षक है ‘आतंकवाद एवं उग्रवाद के विरूद्ध लड़ाई तथा शियानजियांग में मानवाधिकारों का संरक्षण '। हालांकि चीन ने संयुक्त राष्ट्र में तकनीकी रोक लगाकर मसूद अजहर का चार बार बचाव किया है।

MUST WATCH & SUBSCRIBE

इस पत्र में कहा गया है कि विश्व भर में आतंकवाद एवं उग्रवाद ने शांति एवं विकास को गहरा खतरा उत्पन्न किया है और लोगों के जीवन एवं संपत्ति को हानि पहुंचाई है। विदित हो कि मुंबई में 26 नवंबर, 2008 में लश्कर-ए-तैयबा के 10 हथियारबंद आतंकवादियों ने भीषण हमला किया था जिसमें अमेरिकी नागरिकों सहित 166 लोगों की मौत हुई थी। 

More From world

Loading...
Trending Now