संजीवनी टुडे

चीन की खतरनाक योजना, भारत समेत कई देशों को 'अंधा-बहरा' बनाने की तैयारी कर रहा है ड्रेगन !

संजीवनी टुडे 24-09-2020 11:58:14

यह रिपोर्ट ऐसे समय में आई है जब भारत और चीन के बीच वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर गतिरोध जारी है।


नई दिल्ली। अमेरिका स्थित चीन एयरोस्पेस स्टडीज इंस्टीट्यूट की एक रिपोर्ट में सामने आया है कि चीन ने 2007 से 2018 के बीच कई साइबर हमले किए हैं, इसमें उसने Indian satellite communication को भी निशाना बनाया है। चीन ने भारतीय सैटेलाइट पर यह हमला 2017 में किया था।  

Indo-China border dispute

हालांकि इसरो ने यह सुनिश्चित किया कि इन साइबर हमलों से इनके सिस्‍टम पर असर न आए। रिपोर्ट में कहा गया है कि चीन के पास जियोसिंक्रोनस ऑर्बिट (GEO) से स्‍पेस सिस्‍टम्‍स को खतरे में डालने वाली कई काउंटर-स्पेस टेक्नोलॉजी हैं। वहीं भारत ने 2019 में अपनी एंटी-सैटेलाइट मिसाइल टेक्‍नॉलॉजी की क्षमताओं का प्रदर्शन कर दिखा दिया था कि देश, दुश्मन उपग्रहों को 'मार' गिराने में सक्षम है। 

Indo-China border dispute

रिपोर्ट में दावा किया गया है कि चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) ने अपने 'दुश्मन को अंधा और बहरा कर देने वाली' टेक्‍नॉलॉजी को डेवलप करने का काम जारी रखा है। इसमें तो यहां तक कहा गया है कि चीन के पास ग्राउंड स्‍टेशन से ही ऐसे साइबर अटैक करने की क्षमता है, जिसके जरिए वह स्पेसक्राफ्ट समेत सैटेलाइट्स को कंट्रोल या हाइजैक कर सकता है। 

Indo-China border dispute

यह रिपोर्ट ऐसे समय में आई है जब भारत और चीन के बीच वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर गतिरोध जारी है। वहीं, ANI ने रक्षा सूत्रों के हवाले से बताया है कि भारतीय सुरक्षा अधिकारियों को  LAC पर चीनी गतिविधियों पर कड़ी नजर रखने के लिए 4 से 6 'समर्पित उपग्रहों' की जरूरत है। कथित तौर पर उन्‍हें 'हाई-रिजॉल्यूशन वाले सेंसर्स और कैमरों' की जरूरत है। 

यह खबर भी पढ़े: भारतीय सेना के पराक्रम से खौफ में चीनी सेना, लद्दाख पर तैनाती हुई तो रोने लगे, Video वायरल !

यह खबर भी पढ़े: बड़ा खुलासा/चीन ने शिंजियांग में बनाए 400 डिटेंशन कैंप, नरक जैसी जिंदगी जी रहे 80 लाख उइगर मुस्लिम

 

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From world

Trending Now
Recommended