संजीवनी टुडे

चीन ने चली एक और नई चाल, भारतीय राजनेताओं को किये उकसाने वाले Tweet

संजीवनी टुडे 17-09-2020 08:36:56

चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के एक मुखपत्र ने पूरी ताकत लगाकर भारतीय राजनेताओं को 1962 की हार की याद दिलाने वाले ट्वीट कर रहा है।


लद्दाख। पूर्वी लद्दाख में हजारों फुट ऊंची चोटियों पर फतह हासिल करके चीनी घुसपैठ का मुंहतोड़ जवाब देने वाले भारतीय सैनिकों के मनोबल को तोड़ने के लिए चीन अब एक और गंदी चाल चल रहा है। चीन भारतीय सैनिकों को चीनी सेना भारतीय सेना के खिलाफ पैंगोंग त्सो में मनोवैज्ञानिक हथकंडों का इस्तेमाल कर रही है। 

चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के एक मुखपत्र ने पूरी ताकत लगाकर भारतीय राजनेताओं को 1962 की हार की याद दिलाने वाले ट्वीट कर रहा है। इसके अनुसार भारतीय अर्थव्यवस्था बहुत बुरी तरह से डूब गई और उसे उबारने की जरूरत है। बिना इस बात का जिक्र किये कि कोरोना का जन्म वहां में हुआ था, मुखपत्र ने भारत में कोरोना वायरस के बढ़ते प्रसार को रोकने की बात कही। 

Indo-China border dispute

इसके अलावा अब नई चाल के तहत चीन ने अपने फॉरवर्ड पोस्ट पर पैंगोंग झील के पास फिंगर 4 पर बड़े-बड़े लाउडस्पीकर लगाए हैं और उसमें पंजाबी गाने बजाने शुरू किए हैं। साथ ही चूसूल में चीनी सेना के मोल्‍डो सैन्‍य चौकी पर भी लाउडस्‍पीकर लगाए गए हैं। इन पर चीनी सेना की ओर से कहा जा रहा है कि भारतीय सेना अपने राजनीतिक आकाओं के हाथों मूर्ख न बने। इन लाउडस्पीकर के जरिए चीनी सेना अब भारतीय जवानों को यहां की सरकार और नेताओं के खिलाफ भड़काने की नापाक कोशिश में जुटी है। 

चीनी सैनिक इन लाउडस्पीक के जरिए भारतीय सेना को भड़काने और उनके मनोबल को तोड़ने की कोशिशों में जुटे हैं। कड़ाके की ठंड में इतनी ऊंचाई पर भारतीय जवानों की तैनाती से घबराई चीनी सेना अब नया दांव खेल रही है और भारतीय जवानों को ऊंचाई वाले जगहों पर तैनात किए जाने के भारत सरकार के फैसलों के खिलाफ भड़काने की कोशिश कर रही है। चीनी सेना की यह कोशिश है कि इन लाउडस्पीकर के जरिए भारतीय जवानों को उकसाया जाए, उनके अंदर असंसोथ पैदा किया जाए और कड़ाके की ठंड की याद दिलाकर उन्हें पीछे हटने पर मजबूर किया जाए।

Indo-China border dispute

माना जा रहा है कि चीन की यह चाल भारतीय जवानों के ध्यान को भटकाने के लिए है। भारतीय सेना के एक पूर्व प्रमुख के मुताबिक, पीपुल्स लिब्रेशन आर्मी ने ठीक इसी तरह लाउडस्‍पीकर रणनीति का इस्‍तेमाल साल 1962 और 1967 में नाथु ला झड़प के दौरान किया था। उन्‍होंने कहा कि चीन को लगता है कि फिंगर 4 पर पंजाबी सैनिक तैनात हैं। चीनी सेना को लगता है कि फिंगर चार पर पंजाबी सैनिकों की तैनाती है और यही वजह है कि वे पंजाबी गाने बजा रहे हैं। 

सूत्रों की मानें तो ऐसी संभावना जताई जा रही है कि भारतीय जवानों की लगातार निगरानी से परेशान होकर चीनी सैनिकों ने यह ड्रामा उनका ध्यान भटकाने के लिए किया है और लगातार पंजाबी गाने बजा रहे हैं। या फिर प्रेशर रीलीव करने के लिए ऐसा कर रही है। यहां ध्यान देने वाली बात है कि यह जगह वही है जहां हाल ही में 8 सितंबर को दोनों देशों के सेनाओं के बीच करीब 100 राउंड हवाई फायरिंग हुई थी। 

यह खबर भी पढ़े: भारत से युद्ध की तैयारी में जुटा चीन, अपने सैनिकों को दिए ये आदेश

यह खबर भी पढ़े: भारत-चीन सेना ने लद्दाख में पैंगोंग त्सो झील के किनारे की थी 100-200 राउंड फ़ायरिंग

 

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From world

Trending Now
Recommended