संजीवनी टुडे

सीमा विवाद: नेपाल में चीन के खिलाफ जोरदार विरोध प्रदर्शन, लोगों ने लगाए 'गो बैक चाइना' के नारे

संजीवनी टुडे 24-09-2020 22:05:22

विस्तारवादी नीति से पड़ोसी मुल्कों पर खंजर घोंपने के लिए कुख्यात चीन ने हाल ही में बने अपने दोस्त नेपाल को अपनी साजिश का शिकार बनाया है।


नई दिल्ली: विस्तारवादी नीति' से पड़ोसी मुल्कों पर खंजर घोंपने के लिए कुख्यात चीन ने हाल ही में बने अपने 'दोस्त' नेपाल को अपनी साजिश का शिकार बनाया है। उन्होंने नेपाल के हुमला जिले में 11 इमारतों का निर्माण किया है, जिसको लेकर नेपाल में जोरदार विरोध शुरू हो गया है। प्रदर्शनकारियों ने बैनर के साथ 'चीन वापस जाओ' और 'चीन पीछे हटो' के नारे लगाए। प्रदर्शनकारियों के पोस्टर्स पर नेपाल में हो रहे चीनी निर्माण की तस्वीरें थीं। 

नेपाल का दावा चीन ने किया अवैध निर्माण
नेपाली मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो चीन ने हुमला जिले में 11 इमारतों का निर्माण किया है, जिसमें एक बॉर्डर पिलर नहीं है। इनमें से एक इमारत में चीनी फौज के जवान रह रहे हैं, बाकी की इमारतें खाली हैं। नाम्खा ग्रामीण नगर पालिका के अध्यक्ष ने काठमांडू पोस्ट को बताया, 'चीनी पक्ष ने दावा किया कि जिन क्षेत्रों में घर बने हैं, वे चीनी क्षेत्र में आते हैं। 

नेपाल जारी करेगा रिपोर्ट
नेपाल का गृह मंत्रालय जल्द ही इस पर एक रिपोर्ट जारी कर सकता है। गृह मंत्रालय की एक टीम इस क्षेत्र का दौरा करने के बाद ये रिपोर्ट तैयार करेगी। नेपाल में चीनी दूतावास की ओर से इस मामले पर प्रतिक्रिया सामने आई है। काठमांडू में चीनी दूतावास के एक प्रवक्ता ने कहा, 'चीन और नेपाल मित्रवत पड़ोसी हैं। चीन ने हमेशा नेपाल की संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता का सम्मान किया है। 

उन्होंने आगे कहा कि मीडिया ने जिन इमारतों का उल्लेख किया है, वे चीनी क्षेत्र में हैं और इसका सत्यापन किया गया है। नेपाल एक बार फिर अपनी ओर से सत्यापन करे। इस मामले में चीनी दूतावास के प्रवक्ता ने आगे कहा कि चीन और नेपाल का कोई सीमा विवाद नहीं है। दोनों पक्ष सीमा से जुड़ें मसलों पर हमेशा संपर्क में रहते हैं।

यह खबर भी पढ़े: रेलवे ने किसानों के ‘रेल रोको’ आंदोलन को लेकर दिया बड़ा बयान, कहा- इससे खाद्यान्न की आपूर्ति बुरी तरह होगी प्रभावित

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From world

Trending Now
Recommended