संजीवनी टुडे

बंगलादेश की PM शेख हसीना बोली, नागरिकता (संशोधन) कानून की आवश्यकता नहीं

इनपुट- यूनीवार्ता

संजीवनी टुडे 19-01-2020 19:44:26

हसीना ने नागरिकता (संशोधन) कानून (सीएए) को लेकर कहा है कि इसे पारित करने की जरूरत को वह समझ नहीं सकी हैं तथा इस कानून की जरूरत ही नहीं थी।


ढाका। बंगलादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने नागरिकता (संशोधन) कानून (सीएए) को लेकर कहा है कि इसे पारित करने की जरूरत को वह समझ नहीं सकी हैं तथा इस कानून की जरूरत ही नहीं थी। हसीना ने गल्फ समाचार एजेंसी के साथ एक साक्षात्कार में कहा,“ हम समझ नहीं सके कि भारत सरकार ने इस कानून को पारित क्यों किया। इसकी आवश्यकता ही नहीं थी।”

यह खबर भी पढ़ें:​ ​अपनी ही शादी में नहीं पहुंच सका जवान, दुल्हन के चाचा ने कहा कि....

उन्होंने हालांकि सीएए को लेकर अपनी पहली टिप्पणी में कहा कि यह भारत का आतंरिक मामला है। प्रधानमंत्री ने कहा, “ बंगलादेश ने हमेशा से यह माना है कि राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) और सीएए भारत का आतंरिक मामला है। भारत सरकार ने भी कई बार कहा है कि यह उनका आतंरिक मामला है और पिछले वर्ष अक्टूबर में भारत यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें व्यक्तिगत तौर पर इस मामले को लेकर आश्वस्त भी किया था।”

हसीना ने कहा कि वर्तमान में भारत और बंगलादेश के बीच रिश्ते सबसे अधिक घनिष्ठ हैं। गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने 12 दिसंबर को संसद में सीएबी को पारित किया था जिनमें पाकिस्तान, बंगलादेश और अफगानिस्तान में धार्मिक रूप से प्रताड़ना का सामना कर रहे हिन्दू, जैन, बौद्ध, ईसाई और सिख समुदाय के लोगों को भारत की नागरिकता प्रदान करने का प्रावधान है। इस कानून लेकर मिली-जुली प्रतिक्रियाएं आ रही हैं।

जयपुर में प्लॉट मात्र 289/- प्रति sq. Feet में  बुक करें 9314166166

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From world

Trending Now
Recommended