संजीवनी टुडे

असफल तख्तापलट की पहली बरसी पर एर्दोगन ने कहा- 250 लोगों ने अपनी जान देकर देश का भविष्य सुरक्षित रखा

संजीवनी टुडे 16-07-2017 11:20:42

इस्तांबुल। असफल सैन्य तख्तापलट की पहली बरसी पर तुर्की के राष्ट्रपति तैय्यप एदोर्गन ने इस्तांबुल में आयोजित एक रैली के जरिये लाखों लोगों को संबोधित करते हुए कहा, 'उस रात लोगों के हाथों में बंदूकें नहीं थीं, उनके हाथों में झंडे थे और सबसे जरुरी उनके साथ उनका विश्वास था। कहने का मतलब यह है कि सेना के एक धड़े ने पिछले वर्ष 15 जुलाई को तख्तापलट करने की कोशिश की थी। तख्तापलट की इस नाकाम कोशिश की लड़ाई में 250 से ज्यादा लोग मारे गए थे और 2,196 लोग घायल हुए थे। 


एदोर्गन के मुताबिक, मैं अपने देश के उन सभी लोगों का आभार प्रकट करता हूं जिन्होंने अपनी जान की परवाह न करते हुए देश की रक्षा की। उन्होंने कहा कि 250 लोगों ने अपनी जान देकर देश का भविष्य सुरक्षित रखा। 

तुर्की की सरकार ने नाकाम तख्तापलट के बाद हजारो लोगो को बर्खास्त किया था। सरकार के अनुसार वह तख्तापलट का समर्थन करने वालों को दंडित कर रही है। तुर्की ने इस तख्तापलट की असफल कोशिशों के लिए मुस्लिम धर्मगुरु फतेउल्लाह गुलेन को जिम्मेदार ठहराया था। जिसमें राष्ट्रपति तैय्यप एदोर्गन को सत्ता से हटाने  की कोशिश की गई थी ।

जयपुर में प्लॉट ले मात्र 2.20 लाख में: 09314188188

sanjeevni app

More From world

Trending Now