संजीवनी टुडे

उत्तराखंड में एक अक्टूबर से होगी धान खरीद, 242 केंद्रों पर 10 लाख मी. टन क्रय करने का लक्ष्य

संजीवनी टुडे 24-09-2020 20:51:38

उत्तराखंड में एक अक्टूबर से होगी धान खरीद, 242 केंद्रों पर 10 लाख मी. टन क्रय करने का लक्ष्य


देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने गुरुवार को सचिवालय में खरीफ खरीद सत्र 2020-21 हेतु धान क्रय सम्बन्धी व्यवस्थाओं की समीक्षा की। मुख्यमंत्री ने इस वर्ष 242 धान क्रय केन्द्रों के माध्यम से 10 लाख मीट्रिक टन धान क्रय के लक्ष्य पर सहमति व्यक्त करते हुए इस सम्बन्ध में समय से सभी आवश्यक व्यवस्थायें सुनिश्चित करने के निर्देश सम्बन्धित अधिकारियों को दिये। मुख्यमंत्री ने इस वर्ष इस वर्ष ए ग्रेड धान का मूल्य 1888 रुपये प्रति क्विंटल तथा औसत धान का 1868 रुपये प्रति क्विंटल निर्धारित किये जाने पर भी सहमति जतायी। उन्होंने आगामी 01 अक्टूबर से की जाने वाली धान क्रय के सम्बन्ध में सभी व्यवस्थायें ससमय सुनिश्चित करने को भी कहा। 

मुख्यमंत्री ने निर्देश दिये कि धान क्रय के सम्बन्ध में पिछले वर्ष की व्यवस्थाओं में यदि कोई कमी रह गई हो तो उसका संज्ञान लेकर उससे बेहतर व्यवस्थायें सुनिश्चित की जाएं। उन्होंने स्पष्ट निर्देश दिये कि क्रय केन्द्रों पर किसानों को कोई परेशानी न हो, इसका ध्यान रखा जाए। उन्होंने धान मूल्य का किसानों को अविलम्ब भुगतान की व्यवस्था बनाने को कहा। मुख्यमंत्री ने इस सम्बन्ध में सहकारिता विभाग को आवश्यक धनराशि व्यवस्था करने के साथ ही प्रबन्ध निदेशक मण्डी को भी आवश्यक व्यवस्था सुनिश्चित करने को कहा। किसानों को बेहतर सुविधा उपलब्ध हों, इसके लिए किसानों का डाटा तैयार करने पर भी ध्यान देने के निर्देश भी उन्होंने दिये। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिये कि धान की खरीद तैयार किये गये ई-खरीद साफ्टवेयर के माध्यम से किये जाने की व्यवस्था की जाए तथा किसानों की सुविधा के लिए उन्हें घर पर ही आनलाइन पंजीकरण कराने तथा टोकन उपलब्ध कराने की व्यवस्था की जाए।

सचिव खाद्य सुशील कुमार ने मुख्यमंत्री को अवगत कराया कि धान क्रय केन्द्रों पर सभी आवश्यक व्यवस्थायें की जा रही है। धान के लिए बोरों की व्यवस्था की जा रही है। उन्होंने बताया कि धान क्रय के लिए खाद्य विभाग, सहकारिता विभाग, एनसीसीएफ एवं नैफैड एजेंसियां निर्धारित की गई हैं। कच्चा आढ़तियों के माध्यम से भी धान क्रय की व्यवस्था है जबकि खाद्य नागरिक आपूर्ति विपणन एवं आपूर्ति के साथ ही उत्तराखण्ड राज्य भण्डारण निगम तथा केन्द्रीय भण्डारण निगम के स्तर पर भण्डारण की व्यवस्था है। 

उन्होंने बताया कि प्रदेश में इस वर्ष लगभग 2,50,000 हेक्टेयर के माध्यम से धान की बुआई हुई थी, जिसके सापेक्ष 10 लाख मी. टन धान क्रय का लक्ष्य प्रस्तावित किया गया है। उन्होंने कहा कि कोविड के दृष्टिगत इस वर्ष किसानों की सुविधा के लिए क्रय केन्द्रों में वृद्धि की गई है। बैठक में सचिव वित्त सौजन्या, सचिव कृषि हरबंश सिंह चुघ सहित खाद्य सहकारिता, मण्डी परिषद के अधिकारी तथा राइस मिलों के प्रतिनिधि उपस्थित थे।

यह खबर भी पढ़े: राजस्थान में 1981 नए पॉजिटिव मिले, 15 की मौत

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From uttarakhand

Trending Now
Recommended