संजीवनी टुडे

नो फूड वेस्टिंग जागरुकता अभियान का समापन

संजीवनी टुडे 14-08-2020 17:05:25

गुरुकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय के सीनेट हाल में रोटरी क्लब कनखल के पांच दिवसीय जागरुकता अभियान कार्यक्रम नो फूड वेस्टिंग का आज समापन हो गया। समारोह के मुख्य अतिथि विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. रूपकिशोर शास्त्री ने कहा कि वेदों में स्पष्ट रूप से लिखा है कि जितने भी पदार्थ हैं,


हरिद्वार। गुरुकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय के सीनेट हाल में रोटरी क्लब कनखल के पांच दिवसीय जागरुकता अभियान कार्यक्रम नो फूड वेस्टिंग का आज समापन हो गया। समारोह के मुख्य अतिथि विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. रूपकिशोर शास्त्री ने कहा कि वेदों में स्पष्ट रूप से लिखा है कि जितने भी पदार्थ हैं।

उनका संबंध देवताओं से है। इसीलिए अन्न को अन्न देवता के नाम से अभिहित किया गया है। हर पदार्थ काे हमारी धार्मिक परम्पराओं से जोड़कर देखा जाता है। प्रकृति ने सभी पदार्थों को ईश्वरीय शक्ति से जोड़कर मानव हित के लिए उपयोगी बनाया है। उन्होंने कहा कि ग्रामीण अंचलों में अन्न की उपयोगिता सबसे ज्यादा है। किसान अन्न उगाता है और जनता तक पहुंचाता है। देश और दुनिया में आज वेस्टिंग फूड का प्रचलन बहुत ज्यादा बढ़ गया है। हजारों टन वेस्टिंग फूड नालियों में या कूड़ेदान में फेंक दिया जाता है। जबकि भारत में बहुत सारे लोग भूख के मारे दम तोड़ रहे हैं। यह जागरुकता अभियान नो फूड वेस्टिंग के लिए मील का पत्थर साबित हो सकता है।

रोटरी क्लब कनखल के अध्यक्ष प्रदीप तोमर ने कहा कि हरिद्वार में क्लब के माध्यम से पांच दिन से अलग-अलग समस्याओं को लेकर शहर में जागरुकता कार्यक्रम संचालित हो रहा था। इस जागरुकता कार्यक्रम से समाज में नई ऊर्जा का संचार देखने को मिलेगा। क्लब के सचिव विवेक गर्ग ने कहा कि इस जागरुकता अभियान से समस्याओं के प्रति लोगों में चेतना बढ़ी है। इस समय कोरोना संक्रमण काल चल रहा है, जिसमें अन्न की उपादेयता और बढ़ गयी है।

इस अवसर पर प्रो. सोमदेव शतांशु, अशोक सप्रा, प्रवीन चावला, अनिल केशवानी, इश मोगिया, राजकुमार शर्मा, चेतन घई, हरपाल सिंह, अनिल खुराना, राजीव अरोड़ा, मोहित अग्रवाल, संजय भारतीय, शौर्य तोमर, संदीप अग्रवाल, अंजू तोमर, इन्दु शिप्रा, प्रिया मांगिया, पूजा चावला, नमिता खुराना इत्यादि उपस्थित रहे।

यह खबर भी पढ़े: कमलनाथ पर नरोत्तम ने कसा तंज, कहा- अपने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते तो ज्यादा अच्छा होता

यह खबर भी पढ़े: सुप्रीम कोर्ट ने अवमानना केस में वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण को दिया दोषी करार

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From uttarakhand

Trending Now
Recommended