संजीवनी टुडे

वाराणसी/ सोनभद्र उभ्भा कांड की बरसी पर सियासत में उबाल, कांग्रेस ने योगी सरकार पर साधा निशाना

संजीवनी टुडे 16-07-2020 19:18:54

सोनभद्र जिले के घोरावल उभ्भा कांड की पहली बरसी पर गुरूवार को पूर्वांचल सहित पूरे प्रदेश में सियासत गरमाने लगी है। घोरावल जा रहे कांग्रेस के उत्तर प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू को गोपीगंज के पास रोके जाने से पार्टी कार्यकर्ताओं में नाराजगी बढ़ रही है।


वाराणसी। सोनभद्र जिले के घोरावल उभ्भा कांड की पहली बरसी पर गुरूवार को पूर्वांचल सहित पूरे प्रदेश में सियासत गरमाने लगी है। घोरावल जा रहे कांग्रेस के उत्तर प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू को गोपीगंज के पास रोके जाने से पार्टी कार्यकर्ताओं में नाराजगी बढ़ रही है। प्रदेश अध्यक्ष के समर्थन में सीतामढ़ी जाने के लिए निकले वाराणसी के पूर्व सांसद डा.राजेश मिश्र, पूर्व विधायक अजय राय, सेवादल के प्रदेश अध्यक्ष प्रमोद पांडेय, वाराणसी जिलाध्यक्ष राजेश्वर पटेल,महानगर अध्यक्ष राघवेन्द्र चौबे, प्रदेश महासचिव देवेन्द्र प्रताप सिंह मुन्ना, महिला प्रकोष्ठ प्रदेश सचिव सरिता पटेल, जिला अध्यक्ष मिर्जापुर आदि नेताओं को भी पुलिस ने मिर्जापुर के अदलाहट फतेहपुर टोल प्लाजा पर रोक लिया तो नाराज नेता वहीं धरने पर बैठ गये। इसकी जानकारी वाराणसी में कार्यकर्ताओं को हुई तो उन्होंने योगी सरकार पर सोशल मीडिया के जरिये निशाना साधना शुरू कर दिया है। कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाया कि प्रदेश सरकार लोकतंत्र की गला घोंट रही। प्रदेश सरकार के खिलाफ विरोध का कोई मौका न चूकने वाले कार्यकर्ता घोरावल सीधे पहुंचने के बजाय सोशल मीडिया पर ही विरोध जता रहे है। 

बताते चले भूमि विवाद में 17 जुलाई 2019 को उभ्भा गावं में 11 आदिवासियों  की हत्या कर दी गई थी। घटना के विरोध में तब कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी उभ्भा जाने के लिए निकली तो पुलिस ने मिर्जापुर नारायणपुर के पास रोक लिया था। जहां वह भी धरने पर बैठ गई थी। इस घटना को लेकर प्रियंका के अगुवाई में कांग्रेस लगातार हमलावर तेवर में रही। 

इस घटना की बरसी पर कांग्रेस सहित अन्य दल सियासत न कर सके चौकन्ना सोनभद्र जिला प्रशासन ने पूरे क्षेत्र में धारा 144 लागू कर दिया। कोरोना संकट काल और निषेधाज्ञा का हवाला देकर ही पुलिस अफसरों ने कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष को रोक लिया। 

पार्टी के नेताओं का कहना था कि कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू गांव के पीड़ित परिवार से मुलाकात करने और मृतकों को श्रद्धांजलि देने के लिए निकले थे। पूर्व विधायक अजय राय ने कहा कि उम्भा सोनभद्र में विगत वर्ष हुए आदिवासी नरसंहार में सरकार ने राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी के संघर्ष के बाद पीड़ितों के सहायतार्थ कई वादे किए थे। निसंदेह हम कांग्रेस के सिपाहियों को गिरफ्तार कर मुख्यमंत्री योगी यह दर्शा रहे हैं कि उन्होंने गरीब आदिवासियों के लिए कुछ नहीं किया। उन्होंने सोशल मीडिया के जरिये सवाल किया उम्भा सोनभद्र के नरसंहार में शहीद हुए दलितों आदिवासियों को श्रद्धांजलि देना क्या गुनाह है?। क्या प्रदेश की सरकार ने पूरी पुलिस फोर्स को सिर्फ सत्कर्म और सेवा कार्य करने वाले कांग्रेस के सिपाहियों को रोकने और गिरफ्तार करने के लिए लगा रखा है?। 

यह खबर भी पढ़े: दोस्त के पास नहीं था मोबाइल, छीन कर दे दिया गिफ्ट

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From uttar-pradesh

Trending Now
Recommended