संजीवनी टुडे

प्रधानमंत्री मोदी के जन्मदिन पर सोशल मीडिया पर छाया रहा #UP_Wishes_ModiJi

संजीवनी टुडे 17-09-2020 14:44:00

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के जन्मदिन पर प्रदेश के साथ देश-विदेश के दिग्गज नेताओं की ओर से उनको शुभकामनाएं देने का सिलसिला जारी है।


लखनऊ। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के जन्मदिन पर प्रदेश के साथ देश-विदेश के दिग्गज नेताओं की ओर से उनको शुभकामनाएं देने का सिलसिला जारी है। सोशल मीडिया पर भी प्रधानमंत्री को अपने-अपने तरीके से नेताओं से लेकर अन्य लोगों ने बधाई दी। 

इस दौरान #UP_Wishes_ModiJi टॉप ट्रेंड करता रहा। इसमें बड़ी संख्या में लोगों ने प्रधानमंत्री के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों हुए विकास कार्यों को लेकर भी उनकी सराहना की। खासतौर से वाराणसी के मूल धार्मिक, आध्यात्मिक स्वरूप को बरकरार रखते हुए कई बड़ी परियोजनाओं के जरिए विकास कार्यों को गति प्रदान करने को लेकर यूजर्स ने उनकी जमकर सराहना की।

ट्विटर पर एक यूजर ने लिखा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कुशल नेतृत्व में उत्तर प्रदेश नित नई ऊंचाइयां छू रहा है। एक अन्य ने कहा कि उत्तर प्रदेश को विकास के पथ पर अग्रसर करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में बुन्देलखण्ड एक्सप्रेसवे और पूर्वांचल एक्सप्रेस वे का निर्माण कार्य प्रारंभ हुआ। 

बुन्देलखण्ड को फ्लोराइड रहित पानी प्रदान करने के लिए प्रधानमंत्री की भागीरथी योजना हर घर नल से जल की शुरुआत की गई जिसे मुख्यमंत्री ने बखूबी लागू किया। एक यूजर ने ट्वीट किया कि उत्तर प्रदेश में एक और प्रवासी मजदूरों की मुख्यमंत्री के निर्देशों पर स्किल मैपिंग करवाई गई, वहीं दूसरी ओर प्रधानमंत्री के नेतृत्व में एमएसएमई सेक्टर के लिए विशेष राहत पैकेज की घोषणा की गई। 

उत्तर प्रदेश के किसानों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए प्रधानमंत्री द्वारा सॉइल टेस्टिंग की शुरुआत की गई उसे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा लागू किया गया वर्तमान में उत्तर प्रदेश का किसान समृद्ध बन रहा है। 

युवाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  द्वारा गारंटी रहित ऋण वितरित किया गया, जिसे मुख्यमंत्री  योगी आदित्यनाथ द्वारा प्रभावी ढंग से लागू किया गया। 

कोरोना को लेकर सरकार के कार्यों को भी लोगो ने सराहा और कहा कि कोरोना महामारी में टेस्टिंग के मामले में अन्य राज्यों पर निर्भर उत्तर प्रदेश प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रेरणा व निर्देशों का पालन कर देश में सबसे अधिक टेस्टिंग करने वाला राज्य बना। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की दूरदर्शी नीतियों का ही कमाल है जिसके चलते उत्तर प्रदेश डिफेंस हब के रूप में विकसित किया जा रहा है। यह कार्य मुख्यमंत्री कई निगरानी में बखूबी आगे बढ़ रहा है। 

जिस तत्परता के साथ उत्तर प्रदेश में कोरोना से लड़ने के लिए स्वास्थ्य सुविधाएं बढ़ाई गई और इसके प्रसार को रोका गया उसके लिए प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को कोटि-कोटि धन्यवाद। 

सैकड़ों वषों से लटके मंदिर प्रकरण को लेकर भी लोगों ने ट्वीट किया और कहा कि राष्ट्र और उत्तर प्रदेश का गौरव श्रीराम मंदिर के निर्माण का मार्ग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रयासों से प्रशस्त हुआ। श्री राम मंदिर के दिव्या और भव्य निर्माण के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ दृढ़ संकल्पित हैं। 

एयर कनेक्टिविटी को लेकर किए जा रहे कार्यों को भी इस दौरान लोगों ने सराहा और कहा कि उत्तर प्रदेश को जेवर से लेकर कुशीनगर व अन्य एयरपोर्ट देने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का कोटि-कोटि धन्यवाद। 

प्रधानमंत्री मोदी के संसदीय क्षेत्र ​वाराणसी में विकास कार्यों को लेकर भी लोगों ने उन्हें बधाई दी और कहा कि भारतीय सभ्यता की अमूल्य धरोहर काशी को पहली बार अपने संसदीय क्षेत्र से नरेंद्र मोदी के रूप में देश का प्रधानमंत्री मिला।

नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री बनने के बाद लगातार वाराणसी का दौरा किया। पीएम यहां जापान के पीएम शिंजो आबे, फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों, जर्मनी के राष्ट्रपति फ्रैंक वॉल्टर के अलावा कई दिग्गजों को यहां लेकर  भारतीय संस्कृति और परंपरा से अवगत करा चुके हैं।

पीएम मोदी के गौरवशाली नेतृत्व में पहली बार काशी में प्रवासी भारतीय दिवस मनाया गया। यह अपने आप में यूपी को गौरान्वित करने वाल पल था। जहां अनेक प्रवासी भारतीयों को काशी से जुड़ने का अवसर मिला।

2014 में प्रधानमंत्री मोदी ने यह कहा था- वाराणसी को स्वच्छ बनाना है और अस्सी घाट पर एक शुरुआत की थी। 2015 में पीएम मोदी ने रिंग रोड फेज-1 की आधारशिला रखी और सिर्फ 3 साल के भीतर उन्होंने शहर को कई महत्वपूर्ण इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट सौंप दिए।

12 दिसम्बर 2015- जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे भारत दौरे पर आए तो मोदी उन्हें काशी लेकर गए, मोदी ने शिंजो आबे को वाराणसी के घाट घुमाए और काशी के प्रसिद्ध दशाश्वमेध घाट पर भव्य गंगा आरती में हिस्सा भी लिया था।

मार्च 2018- मोदी फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों को लेकर वाराणसी पहुंचे, इस मौके पर मिर्जापुर में सोलर प्लांट और गंगा में सैर के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने डीएलडब्ल्यू में कई प्रोजेक्ट्स की शुरुआत की थी।

जब जर्मनी के राष्ट्रपति फ्रैंक वॉल्टर भारत दौरे पर आए तो प्रधानमंत्री मोदी उन्हें भी अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी लेकर गए थे।

प्रधानमंत्री मोदी ने अपना 68 वां जन्म दिवस वाराणसी में मनाया था और उन्होंने वहां के लोगों के सामने अपना रिपोर्ट कार्ड पेश किया था। प्रधानमंत्री मोदी ने अपना जन्मदिन बच्चों के साथ मनाया था।

अपने 68 वें जन्मदिवस के अवसर पर पीएम मोदी ने काशीवासियों से कहा था कि "आपने भले ही मुझे प्रधानमंत्री का दायित्व दिया है, लेकिन यह मेरा दायित्व है कि मैं एमपी के नाते अपने किए हुए काम का लेखा जोखा प्रस्तुत करूं,आप ही मेरे हाई कमांड हैं,आप ही मेरे स्वामी हैं, मैं आपका सेवक हूं।" 

2014 में केंद्र में मोदी सरकार बनने के बाद अब तक वाराणसी के लिए 500 से अधिक परियोजनाएं स्वीकृत हुईं हैं, जिनमें से लगभग 350 से ऊपर परियोजनाएं पूरी की जा चुकी हैं। 

पीएम मोदी के प्रयासों से उनके संसदीय क्षेत्र काशी में 17.6 किलोमीटर लंबे इस हाइवे को आज गेटवे ऑफ़ बनारस कहा जा रहा है। बनारस के किसी भी क्षेत्र से बाबतपुर हवाई अड्डे तक पहुंचने का यह मार्ग ब्रांड बनारस की पहचान बन गया है।

पीएम मोदी के सांसद बनने के बाद काशी में गंगा नदी में जल परिवहन के जरिये बनारस से हल्दिया तक माहवाहक जहाज भेजने के लिए रामनगर में बने मल्टी मोडल टर्मिनल का कार्य शुरू किया गया। नवम्बर 2018 में प्रधानमंत्री ने इसका उद्घाटन किया था। 

प्रधानमंत्री मोदी ने काशी के विकास में एक नया अध्याय बाबा विश्वनाथ मंदिर कोरिडोर बनाने की शुरूआत के साथ जोड़ दिया था। कोरिडोर काशी विश्वनाथ मंदिर, मणिकर्णिका घाट और ललिता घाट के बीच 25,000 स्क्वेयर वर्ग मीटर में बन रहा है।

प्रधानमंत्री मोदी के प्रयासों से काशी में बाबा विश्वनाथ मंदिर कोरिडोर के अंतर्गत फूड स्ट्रीट, रिवर फ्रंट समेत बनारस की तंग गलियों के चौड़ीकरण का काम भी चल रहा है।

यह खबर भी पढ़े: नाबालिग से पांच युवकों ने तमंचे के बल पर किया सामूहिक दुष्कर्म, न्याय न मिलने पर आत्मदाह की चेतावनी

यह खबर भी पढ़े: 11वीं और 12वीं के छात्रों के लिए राहत की खबर, अब ऑनलाइन भी खरीदी जा सकेंगी पुस्तकें, मिलेगी 15 प्रतिशत की छूट

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From uttar-pradesh

Trending Now
Recommended