संजीवनी टुडे

मीरजापुर/ अव्यवस्थाओं व सरकारी उपेक्षा का दंश झेल रहा शहीद भगत सिंह उद्यान, शराबियों का अड्डा बन चुका है पार्क

संजीवनी टुडे 13-07-2020 17:03:47

नगर के सिविल लाइन स्थित डाकघर के सामने बने पालिका बाजार के मध्य शहीद भगत सिंह उद्यान सरकारी उपेक्षा का दंश झेल रहा है।


मीरजापुर। नगर के सिविल लाइन स्थित डाकघर के सामने बने पालिका बाजार के मध्य शहीद भगत सिंह उद्यान सरकारी उपेक्षा का दंश झेल रहा है। यह पार्क गंदगी, कूड़ा-करकट के साथ शराबियों का अड्डा बन चुका है। यहीं नहीं आवारा कुत्ते भी पार्क में जाकर इधर-उधर गंदगी कर देते हैं। 

देश को आजाद हुए 72 साल बीत चुके हैं और आजादी की जंग में हमारे वीर सपूतों ने जो शहादत दी उसे हम सब शायद ही भूला सकते हैं, लेकिन इन शहीदों को सम्मान देने के बजाय आज कुछ लोग उनकी मूर्ति को अपमानित करने से भी पीछे नहीं हट रहे हैं। अपनी संस्कृति और सभ्यता के लिए प्रसिद्ध मीरजापुर के पार्कों की स्थिति अत्यंत दयनीय हो चुकी है। पार्कों के रख-रखाव और सुंदरीकरण न होने से शहीद भगत सिंह उद्यान के चारों तरफ गंदगी पटी हुई है। 

 पार्क के अंदर बड़े-बड़े घास उग आए हैं और वहां लगे पौधे भी सूख गए हैं। पार्क के अंदर हैंडपंप बनवाया गया है, जहां लोग पीने से लेकर धोने तक का काम करते हैं। भगत सिंह की प्रतिमा पर एक छतरी तक मयस्सर नहीं हो सकी है। इतना ही नहीं पार्क के तीन तरफ बनी नगर पालिका की दुकानें उद्यान को नष्ट करने पर आमादा हैं। यहां पर सरकारी भांग, बियर तथा पास में ही अंग्रेजी और देशी शराब की दुकान भी है। इस कारण शाम होते ही यहां का बाजार शराबियों का अड्डा बन जाता है। साथ ही वहां पर रख-रखाव न होने के कारण प्रकाश व्यवस्था भी नगण्य है। इसका पूरा लाभ शराबी उठाते हैं। 

नौ सितंबर 1988 को तत्कालीन विधानसभा सदस्य मीरजापुर श्रीमती अशरफ इमाम ने शहीद भगत सिंह उद्यान का उद्घाटन किया था। इसके बाद 30 जनवरी 1990 को नगर पालिका परिषद के तत्कालीन अध्यक्ष राजीव कुमार साइलस ने भगत सिंह की प्रतिमा का अनावरण किया था। उस समय किसी ने सोचा तक नहीं होगा कि उद्यान की ऐसी दुर्दशा होगी। जिस नगर पालिका प्रशासन की जिम्मेदारी होती है कि वे शहीदों को सम्मान दें। उसी नगर पालिका प्रशासन के नाक के नीचे ऐसे कार्य हो रहे हैं तो सर शर्म से झुक जाता है। प्रशासनिक स्तर पर भी पार्क के रख-रखाव पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। 

नगर पालिका परिषद, मीरजापुर के अधिशासी अधिकारी ओम प्रकाश ने कहा कि उद्यान को साफ-सुथरा व सुरक्षित रखना पालिका की जिम्मेदारी है। उद्यान की स्थिति की जांच कर आवश्यक कार्यवाही की जाएगी।

किसी की नहीं पड़ी नजर 

जनपद में अबतक कई बार मंत्रियों का दौरा हो चुका है। वहीं इस समय स्वच्छता को लेकर शासन से नामित नोडल अधिकारी भी स्वच्छता कार्यों समीक्षा कर रहे हैं लेकिन आजतक किसी की नजर शहीद भगत सिंह उद्यान पर नहीं पड़ी। 

यह खबर भी पढ़े: पति-पत्नी ने फांसी लगाकर की आत्महत्या, एक ही रस्सी से लटके मिले दोनों के शव

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From uttar-pradesh

Trending Now
Recommended