संजीवनी टुडे

कृषि विज्ञान केन्द्र ने जारी की कृषकों के लिये समसामयिक सलाह

संजीवनी टुडे 14-08-2020 22:40:04

जिले के कृषि विज्ञान केन्द्र सिवनी द्वारा कृषकों के लिये शुक्रवार को समसामयिक कृषि सलाह जारी की गई है, जिसमें जिले में हो रही लगातार वर्षा के मद्देनजर


सिवनी। जिले के कृषि विज्ञान केन्द्र सिवनी द्वारा कृषकों के लिये शुक्रवार को समसामयिक कृषि सलाह जारी की गई है, जिसमें जिले में हो रही लगातार वर्षा के मद्देनजर  किसान भाइयों से खेतो में जल भराव की स्थिति में नालियां बनाकर उचित जल निकासी की व्यवस्था करने की अपील की गई है। 

कृषि विज्ञान केन्द्र द्वारा बताया गया कि धान उत्पादक कृषकों से  धान में गलमिज (पोंगा) के कारण फसल में नुकसान होने की अवस्था में कार्टप हाइड्रो क्लोराइड 4 जी का 10 किलो या कार्बोफुरोंन 3 जी का 13 किलो प्रति एकड़ की दर से  डालने एवं पीला तना छेदक कीट की रोकथाम के लिए क्लोरो

 पैरिफोस 20 ई सी का 600 मिलीलीटर को 200 लीटर पानी में घोल कर छिड़काव करने तथा धान में बैक्टीरियल पत्ती झुलस ब्लाइट के लक्षण दिखने पर प्लांटओमैसिन  दवा 200 ग्राम को 200 लीटर पानी में घोल कर छिड़काव या (कॉपर आक्सि क्लोराइड दवा का 200 ग्राम स्ट्रेप्टॉसायक्लीन दवा 30 ग्राम) को 200 लीटर पानी में घोल कर छिड़काव करने की अपील की गई है। 

कृषकों को सलाह दी जाती है कि कीटो की वृद्धि संख्या कम करने के लिए रात में लाइट ट्रैप प्रकाश प्रपंच का प्रयोग करे इसके लिए टिन या प्लास्टिक के ड्रम में ऊपर से एक बल्ब लगाये और ड्रम या टिन में थोड़ी मात्रा में केरोसिन तेल या रोगर दवा मिलाये । बल्ब की रौशनी से कीट आकर्षित होकर आएंगे और और तैयार घोल में गिरने पर खत्म हो जाएंगे। ऐसा करने पर मित्र कीट बच जाएंगे।

यह खबर भी पढ़े: सुशांत की मौत का 2 महीने बाद भी नहीं हुआ खुलासा, अब बहन श्वेता ने फैंस से की ग्लोबल प्रेयर में जुड़ने की अपील

यह खबर भी पढ़े: सैनिकों की वापसी के लिए ईमानदारी से साथ मिलकर काम करे चीन- विदेश मंत्रालय

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From uttar-pradesh

Trending Now
Recommended