संजीवनी टुडे

उत्तरप्रदेश/ ईओ मणि मंजरी का चालक गिरफ्तार, खुल सकता है आत्महत्या का राज

संजीवनी टुडे 16-07-2020 18:34:46

ईओ मणि मंजरी राय खुदकुशी मामले में पुलिस ने उनके ड्राइवर को गुरुवार को गिरफ्तार कर लिया। उससे पुलिस पूछताछ कर रही है। उसने पुलिस को कई अहम राज बताए हैं।


बलिया। ईओ मणि मंजरी राय खुदकुशी मामले में पुलिस ने उनके ड्राइवर को गुरुवार को गिरफ्तार कर लिया। उससे पुलिस पूछताछ कर रही है। उसने पुलिस को कई अहम राज बताए हैं।

बता दें कि गाजीपुर के भांवरकोल थाना के कानुवान की रहने वाली महिला पीसीएस अफसर मणि मंजरी राय मनियर नगर पंचायत की दो साल से ईओ थीं। छह जुलाई की रात को अपने किराए के फ्लैट में वे मृत मिली थीं। पुलिस ने पंखे से लटकते हुए उन्हें पाया था।

ईओ द्वारा आत्महत्या से पहले छोड़े गए सुसाइड नोट ने मामले में कई आशंकाओं को जन्म दे दिया था। मृत ईओ के भाई विजयानन्द राय ने नगर पंचायत अध्यक्ष भीम गुप्ता, लिपिक विनोद सिंह, कम्प्यूटर ऑपरेटर अखिलेश समेत पांच को आरोपित करते हुए तहरीर दी थी। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर अरोपितों की गिरफ्तारी के लिए दबिश भी देना शुरू किया। जिसमें पहली गिरफ्तारी ड्राइवर चंदन वर्मा निवासी अमृतपाली के रूप में अब जाकर हुई है। 

अपर पुलिस अधीक्षक संजय कुमार ने महिला पीसीएस अफसर मणि मंजरी राय आत्महत्या मामले में इस पहली गिरफ्तारी की जानकारी देते हुए बताया कि ईओ के ड्राइवर चंदन वर्मा को गिरफ्तार कर लिया गया है। उसने कई गोपनीय राज उगले हैं। उसके बताए तथ्यों के आधार पर जांच आगे बढ़ाई जा रही है। उसके मोबाइल की डीटेल खंगाली जा रही है। मनियर नगर पंचायत कार्यालय के अभिलेख भी जुटाए जा रहे हैं। उन सभी तथ्यों का विश्लेषण कर साक्ष्यों के आधार पर अन्य अभियुक्तों के विरुद्ध कार्रवाई की जा रही है।

माना जा रहा है कि ड्राइवर से पूछताछ में ईओ खुदकुशी केस की गुत्थी सुलझाने में मदद मिल सकती है। हालांकि, मामले में आरोपित नगर पंचायत के चेयरमैन भीम गुप्ता व अन्य नामजद पुलिस की गिरफ्त से अभी दूर हैं। उधर, ईओ के परिजन मामले की सीबीआई जांच की मांग पर अड़े हैं।

यह खबर भी पढ़े: जयपुर: रोजगार के लिये 10 हजार रूपये तक के ऋण के लिये आवेदन कर सकते है स्ट्रीट वेन्डर्स

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From uttar-pradesh

Trending Now
Recommended