संजीवनी टुडे

चित्रकूट में यौन शोषण के शिकार बच्चों की जांच कर रही एम्स के डॉक्टर्स, सीबीआई मौजूद

संजीवनी टुडे 14-01-2021 19:16:07

चाइल्ड पोर्नोग्राफी से जुड़े मामले में गुरुवार को एम्स के चिकित्सकों के दल के साथ सीबीआई की टीम जनपद पहुंची। डॉक्टरों ने पैनल से पीड़ित बच्चों का स्वास्थ्य परीक्षण शुरु कर दिया है।


चित्रकूट। चाइल्ड पोर्नोग्राफी से जुड़े मामले में गुरुवार को एम्स के चिकित्सकों के दल के साथ सीबीआई की टीम जनपद पहुंची। डॉक्टरों ने पैनल से पीड़ित बच्चों का स्वास्थ्य परीक्षण शुरु कर दिया है। इसको लेकर शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में कडी सुरक्षा व्यवस्था का इंतजाम किया गया है। मेडिकल के दौरान सीबीआई टीम द्वारा अहम सबूत भी एकत्र किए जाएंगे। पचास के अधिक मासूम बच्चों के साथ यौन शोषण करने एवं इस घिनौने कृत्य के वीडियो और तस्वीरों और देश- दुनिया में चल रही पॉर्न साइट्स में बेचने के मामले में  सिंचाई विभाग में कार्यरत जूनियर इंजीनियर रामभवन को बीते दिनों सीबीआई की टीम ने गिरफ्तार किया था। खुलासे में सिंचाई विभाग के जेई रामभवन ने पांच से 16 साल के बांदा, चित्रकूट और हमीरपुर के रहने वाले बच्चों को अपना शिकार बनाया था। अवर अभियंता को अनैतिक गतिविधियों में लिप्त होने की वजह से तत्काल प्रभाव से सेवा से निलंबित भी कर दिया गया था। आरोपित इंजीनियर रामभवन सोशल मीडिया के माध्यम से विदेशियों के संपर्क में था। उसने विदेशियों से बातचीत करने के लिए एक ग्रुप भी बनाया हुआ था। 

सीबीआई ने जब इस ग्रुप को खंगाला तो बहुत सी बाते निकल कर सामने आई हैं। इसी सिलसिले में एम्स दिल्ली से पांच विशेषज्ञ डॉक्टरों की टीम सीबीआई के साथ गुरूवार को चित्रकूट पहुंची है। स्वास्थ्य टीम पीड़ित बच्चों का मेडिकल टेस्ट करेगी। इस टीम में दो महिला और तीन पुरुष डॉक्टर शामिल हैं। दो दिनों तक चलने वाले इस मेडिकल टेस्ट में 25 से ज्यादा पीड़ित बच्चों का चिकित्सीय परीक्षण किया जायेगा। तीन दिन पहले राम भवन का भी एम्स में मेडिकल टेस्ट हुआ था, टेस्ट के रिपोर्ट्स आना अभी बाकी हैं।

उल्लेखनीय है कि, 16 नवम्बर 2020 को सीबीआई ने राम भवन को 50 से अधिक बच्चों के यौन शोषण करने के आरोप में गिरफ्तार किया था। जांच में पाया है कि डार्क वेब पर बेची जाने वाली पोर्न वीडियोज हाई क्वॉलिटी की थीं। शक है कि जेई के साथ कुछ पेशेवर लोग भी शामिल थे। सीबीआई की टीम अभी उन जगहों पर छानबीन कर रही है जहां ये वीडियोज शूट हुए थे। सीबीआई को ऐसी करीब 100 वीडियोज वाली पेन ड्राइव और लैपटॉप एक अज्ञात मददगार से मिली हैं।  

यह खबर भी पढ़े: मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना के तहत जरूरत मंद लोगों का घर पर ही इलाज की सुविधा

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From uttar-pradesh

Trending Now
Recommended