संजीवनी टुडे

मतदाता के साथ मतदान केन्द्र के अंदर जा सकेगा गोद वाला बच्चाः प्रभारी

संजीवनी टुडे 28-11-2020 17:54:08

मतदाता के साथ मतदान केन्द्र के अंदर जा सकेगा गोद वाला बच्चाः


हमीरपुर। इलाहाबाद-झांसी खंड स्नातक निर्वाचन को लेकर शनिवार को यहां पीठासीन अधिकारियों समेत सभी मतदान अधिकारियों को प्रशिक्षण देते प्रभारी अधिकारी कार्मिक चित्रसेन सिंह ने कहा कि मतदान अधिकारी प्रथम निर्वाचक नामावली की चिह्नित प्रति से मतदाता का नाम जोर से पढ़कर पुकारेगा ताकि वहां मौजूद एजेंट को साफ-साफ सुनाई दे सके। मतदाता के साथ भी गोद वाला बच्चा ही मतदान केन्द्र के अंदर जा सकता है। 

कलेक्ट्रेट मीटिंग हाल में आयोजित प्रशिक्षण कार्यक्रम में प्रभारी मतदान अधिकारी ने निर्देश देते कहा कि मतदान के दिन मतदान अधिकारी सेकेंड मत प्रभारी, अमिट स्याही का प्रभारी होगा जो स्नातक मतदाताओं के बाये हाथ की तर्जनी में अमिट स्याही लगायेगा। मतदान अधिकारी तृतीय मतदान के लिये आने वाले मतदाताओं का मतपत्र मतपेटी में डलवाने का कार्य करेगा। 

उपजिला निर्वाचन अधिकारी एवं एडीएम विनय प्रकाश श्रीवास्तव ने बताया कि मतदान के दिन बैलट पेपर में केवल बैंगनी रंग के पेन के जरिये ही वोट दिया जा सकेगा। मतदान सम्पन्न कराने के लिये दिये जा रहे सभी प्रपत्रों को भी ठीक से पढ़कर भरा जाये। इसके किसी भी तरह की कोई गलती नही होनी चाहिये।

एडीएम ने कहा कि पीठासीन अधिकारी तथा मतदान अधिकारियों द्वारा आपसी समन्वय स्थापित कर मतदान को निष्पक्ष व पारदर्शी ढंग से सम्पन्न कराया जाए। उन्होंने कहा कि 30 नवम्बर को मतदान स्थलों के लिए पोलिंग पार्टियां रवाना होगी। 01 दिसम्बर 2020 को प्रातः 8.00 बजे से मतदान प्रारभ्भ होगा जो सायं 05.00 बजे तक चलता रहेगा। यदि 5,00 बजे मतदान हेतु लम्बी लाइन लगी हुई है तो पीठासीन अधिकारी द्वारा पर्चियां बनाकर लाइन में लगे सबसे अन्तिम मतदाता को 1 नम्बर की पर्ची देते हुए मतदाता को क्रमानुसार पर्ची दी जायेगी और उनके वोट डलवाये जायेंगे। 

उन्होंने कहा कि मतदान कार्मिक कोविड-19 के प्रोटोकॉल का पूर्णतया पालन सुनिश्चित करेंगे। मतदाता की थर्मल स्क्रीनिंग अनिवार्य होगी। शारीरिक दूरी का पूर्णतया पालन किया जायेगा। उन्होंने उपस्थित पीठासीन अधिकारियों, मतदान अधिकारियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि अच्छी तरह से प्रशिक्षण प्राप्त करे। पोलिंग पार्टी रवानगी के समय सभी सामग्री, स्टेशनरी की भलीभांति जांच कर ली जाए। मतदान के दिन प्रत्येक दो घंटे पर वोटिंग प्रतिशत भेजना अनिवार्य होगा। 

उन्होंने बताया कि मतदान प्रक्रिया के प्रारंभ से लेकर मतदान के अन्त तक मतदान प्रक्रिया को सुचारू रूप से सम्पन्न कराना पीठासीन अधिकारी का मुख्य दायित्व है। मतदान प्रक्रिया प्रारभ्भ होने से पूर्व मतदान अभिकर्ताओं को बैलेट बाक्स को खाली कर दिखाना होगा उसके बाद मतदान प्रारंभ करने की घोषणा की जायेगी। मुख्य विकास अधिकारी ने बताया कि मतदान केन्द्र के अन्दर पीठासीन अधिकारी को छोड़कर किसी भी मतदान अधिकारी, मतदान एजेण्ट को मोबाइल फोन अपने साथ ले जाने की अनुमति नहीं है। मीडिया द्वारा मतदान केन्द्र के अन्दर की फोटोग्राफी नहीं की जायेगी।  

यह खबर भी पढ़े: देश के 3 प्रमुख वैक्सीन केन्द्रों का प्रधानमंत्री ने किया दौरा, कोरोना वैक्सीन के निर्माण के प्रगति के बारे में ली जानकारी

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From uttar-pradesh

Trending Now
Recommended