संजीवनी टुडे

गूगल प्ले स्टोर ऐप से कमाई करने पर वसूल सकता है शुल्क, पढ़िए पूरी खबर

संजीवनी टुडे 01-10-2020 11:51:06

गूगल ने अपने रेवेन्यू मॉडल में सुधार पर तेजी प्रदान की है।


डेस्क। गूगल ने अपने रेवेन्यू मॉडल में सुधार पर तेजी प्रदान की है। बीते मंगलवार को गूगल की तरफ से बोला गया कि गूगल प्ले स्टोर पर उपस्थित उन ऐप को गूगल पे बिलिंग सिस्टम का इस्तेमाल करना चाहिए, जो अपने ऐप के माध्यम से डिजिटल कंटेंट की बिक्री कर रहे हैं। गूगल का बताना है कि, तो इन ऐप्स को अपनी कमाई का कुछ हिस्सा गूगल प्ले स्टोर को प्रदान करना चाहिए।

जानकारी के मुताबिक, वर्तमान में गूगल प्ले स्टोर पर अनेक सारे ऐसे ऐप उपस्थित हैं, जो डिजिटल कंटेंट की बिक्री करके कमाई कर रहे हैं। किन्तु इसके बाद भी मुफ्त में गूगल प्ले स्टोर का इस्तेमाल कर रहे हैं। बता दें कि गूगल का यह बयान ऐसे समय में आया है, जब कुछ ही दिन पहले गूगल प्ले स्टोर से कुछ घंटों हेतु Paytm ऐप को प्रतिबन्ध कर दिया गया था। 

गूगल की तरफ से बोला गया कि ऐप खरीदारी हेतु गूगल प्ले की बिलिंग सिस्टम उपस्थित है। जिसे कंपनी की तरफ से पूर्व के मुकाबले ज्यादा साफ किया गया है, जिससे डिजिटल कंटेंट की बिक्री करने वाले ऐप को भुगतान के मोड में लाया जा सके। वही ऐप डेवल्पर्स को सितंबर 2021 से गूगल बिलिंग पेमेंट सिस्टम का उपयोग करना पड़ सकता है। इसका मतलब है कि ऐप डेवल्पर्स को अपनी कमाई का 30 प्रतिशत हिस्सा गूगल प्ले स्टोर को देना पड़ सकता है। 

वर्तमान में जिन ऐप डेवल्पर्स के गूगल प्ले पर  2 बिलियन से ज्यादा मंथली सक्रीय उपभोक्ता हैं। ऐसे ऐप को गूगल पे बिलिंग सिस्टम से जुड़ना जरूरी होगा। इसके लिए कंपनी की तरफ से ऐप डेवल्पर्स को 30 सितंबर, 2021 तक का वक्त प्रदान किया गया है। हालांकि गूगल तथा एप्पल दोनों पर ऐप डेवल्पर्स की तरफ से आरोप लगता रहा है कि उनकी तरफ से ज्यादा फीस वसूली जाती है। वही इस पर निश्चित फैसला नहीं हो सका है।

यह खबर भी पढ़े: Whatsapp में आया यह खास फीचर! यूजर्स को मिलेंगे कई बड़े फायदे

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From technology

Trending Now
Recommended