संजीवनी टुडे

गढ़हारा यार्ड की उपेक्षा से आहत युवाओं का लोकोमोटिव शेड गेट पर धरना

संजीवनी टुडे 27-02-2020 16:00:12

गढ़हारा रेल यार्ड परिक्षेत्र में औद्योगिक विकास एवं उसमें स्थानीय युवाओं के रोजगार समेत अन्य ज्वलंत मुद्दों की उपेक्षा का मामला एक बार फिर तूल पकड़ चुका है।


बेगूसराय। गढ़हारा रेल यार्ड परिक्षेत्र में औद्योगिक विकास एवं उसमें स्थानीय युवाओं के रोजगार समेत अन्य ज्वलंत मुद्दों की उपेक्षा का मामला एक बार फिर तूल पकड़ चुका है। रेल परिक्षेत्र में रेलवे से जुड़ा विकास कार्य करने और उसे लागू करने को लेकर संघर्ष कर रहे युवा विकास मोर्चा बरौनी के बैनर तले गुरुवार को संयोजक अरुण कुमार श्रीवास्तव के नेतृत्व में सैकड़ों युवाओं ने नवनिर्मित लोकोमोटिव शेड गढ़हारा के मुख्य द्वार के समक्ष  धरना दिया गया। 

धरना के बाद अरुण कुमार श्रीवास्तव के नेतृत्व में प्रतिनिधि मंडल ने वरिष्ठ मंडल विद्युत अभियंता लोकोमोटिव शेड के माध्यम से महाप्रबंधक पूर्व मध्य रेल,हाजीपुर को प्रेषित दो सूत्री मांगों  का स्मार पत्र सौंपा। धरना सभा को संबोधित करते हुए मोर्चा के संयोजक अरुण कुमार श्रीवास्तव ने कहा कि गढ़हारा रेल परिक्षेत्र में औद्योगिक विकास एवं उसमें स्थानीय युवाओं के रोजगार तथा ज्वलंत मुद्दों को लेकर 22 साल से किए गए आंदोलन का परिणाम है कि यहां भारत का आधुनिक लोकोमोटिव शेड करोड़ों की लागत से बनकर तैयार है। लेकिन लगातार अनुरोध के बावजूद आज तक उद्घाटन संभव नहीं हो सका है तथा यह रेल प्रशासन की नाकामियों को उजागर करता है। गढ़हारा रेल नगरी एशिया महादेश में प्रसिद्ध थी। 

1993 में यानांतरण (पलटैया यार्ड) रेलवे यार्ड को रेल प्रशासन की ओर से  आनन-फानन में बंद करने के बाद रेलवे की करीब 22 सौ एकड़ महत्वपूर्ण भूमि जंगल में तब्दील हो गई। गढ़हारा, बरौनी सहित आसपास के दर्जनों गांवों के हजारों लोग   बेरोजगार हो गए।युवा विकास मोर्चा की मांग है कि  आधुनिक लोकोमोटिव शेड का अविलम्ब उद्घाटन किया जाए तथा उसमें स्थानीय बेरोजगार युवाओं को रोजगार दिया  जाए।

यह खबर भी पढ़ें:​ कोरोना वायरस: क्रूज में 20 दिन से फंसे 119 भारतीय आज सुबह नई दिल्ली पहुंचे

यह खबर भी पढ़ें:​ सुब्रह्मण्यम स्वामी ने कहा- वीर सावरकर के बताए मार्ग पर देश चलता तो CAA लागू नहीं करना पड़ता

जयपुर में प्लॉट मात्र 289/- प्रति sq. Feet में  बुक करें 9314166166

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From state

Trending Now
Recommended