संजीवनी टुडे

लड़की के अपहरण और जबरन शादी के मामले की जांच को लेकर महिला ने संगठनों कमर कसी

संजीवनी टुडे 14-05-2019 19:09:04


पटना। एक लड़की का अपहरण करने, उसे बेचने और राजस्थान के एक शख्स के साथ जबरन शादी करने के मामले में पुलिस पर मिलीभगत का आरोप लगाते हुये महिला संगठनों ने आरोपी के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग की है।  साथ ही यह भी कहा है कि राजधानी पटना सहित बिहार के कई जिलों से लड़कियां लगातार गायब हो रही हैं जिससे स्पष्ट होता है कि मानव तस्करों का गिरोह यहां सक्रिय है।  

मात्र 240000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

बिहार महिला समाज से निवेदिता झा, मोना झा, एपवा से मधु और एडवा से रामपरी ने मंगलवार को सीपीआई दफ्तर में संवाददाताओं से कहा कि पटना की बेटियां सुरक्षित नहीं हैं। अबतक कई मामले लडकियों के गायब होने और उनके बेचे जाने का सामने आए हैं। राजधानी में पुलिस की नाक के नीचे ऐसी घटनाएं हो रही हैं पर उसपर कोई कठोर कदम नहीं उठाया जा रहा है। ऐसे दलाल और गैंग पटना में सक्रिय हैं।

उन्होंने बताया कि पत्रकार नगर थाने में एक लड़की को शादी के नाम पर बेच दिए जाने का मामला सामने आया है। महिला संगठन की तरफ से उनलोगों उसके परिवार से मुलाकात की है। यह घटना इस बात का सबूत है की लड़की बेचे और खरीदे जाने के व्यपार में पुलिस की भी मिलीभगत है। उन्होंने कहा कि इसके पहले भी पटना सिटी से लड़कियां गायब हुयी थीं जिसे उनलोगों ने पुलिस की मदद से बरामद किया था। 20 दिन पहले आशियाना से एक लड़की गायब हुई। जब परिवार के लोग प्राथमिकी दर्ज कराने गए तो उन्हें भगा दिया गया। इस मामले को लेकर वे लोग पत्रकार नगर थाना गए और थाना प्रभारी से मिले। परिवार के लोगों ने अपहरण का मामला दर्ज कराया। चार माह तक पुलिस की तरफ से कोई कार्रवाई नहीं हुई। लड़की के परिवार के लोगों ने बताया कि चार माह बाद लड़की ने किसी तरह मां को फोन कर बताया की वो बुरी स्थिति में है। उसे बेच दिया गया है। किसी तरह सम्पर्क किया गया और लड़की को वापस लाया गया। 

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब बटन

लड़की को राजस्थान के चिरावा के झुनझुन मोहल्ला में विनोद नाम के आदमी के साथ उसकी जबरन शादी कर दी गयी थी। लड़की जब पटना पहुंची तो पुलिस को सारा मामला बताया गया और उस आदमी को पुलिस के हवाले किया गया। इतने बड़े अपराध के बाबजूद पुलिस ने विनोद को छोड़ दिया। अभी तक इस मामले में किसी की गिरफ्तारी नहीं हुयी है। लड़की ने बताया की जब उसे होश आया तो किसी अंधेरे कमरे में पड़ी हुई थी, जहां उसकी उम्र की कई लड़कियां मौजूद थीं। कई स्कूल के लिबास में थीं। सबको बेचने के लिए लाया गया था। उन्होंने कहा कि इस मामले में पुलिस की भूमिका संदिग्ध है। अगर इस मामले की सही तरीके से जांच करके मानव तस्करों को नहीं पकड़ा गया तो आंदोलन किया जाएगा।

More From state

Trending Now
Recommended