संजीवनी टुडे

मिट जाउंगा, लेकिन टूटूंगा नहीं: रावत

इनपुट-यूनीवार्ता

संजीवनी टुडे 24-08-2019 21:22:36

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा है कि चुनौतीपूर्ण समय है, मिट जाउंगा, लेकिन टूटूंगा नहीं।


नैनीताल। कांग्रेस नेता एवं उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने विधायकों की खरीद फरोख्त से संबंधित स्टिंग प्रकरण में केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की जांच को लेकर बेहद सख्त टिप्पणी की है और कहा है कि चुनौतीपूर्ण समय है, मिट जाउंगा, लेकिन टूटूंगा नहीं। रावत ने शनिवार को यहां कहा कि मेरे राजनैतिक जीवन में एक बार फिर बेहद चुनौतीपूर्ण क्षण आ रहा है। उन्होंने कहा कि मैं मिट जाऊंगा अवश्य लेकिन टूटूंगा नहीं। उन्होंनेआरोप लगाया है कि केन्द्र सरकार केन्द्रीय जांच एजेसिंयों का दुरूपयोग कर कांग्रेस नेताओं के खिलाफ साजिश कर रही है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार श्री पी. चिदंबरम की तरह ही उनके खिलाफ भी साजिश रच रही है और सीबीआई जांच उसी के इशारे पर हो रही है।

यह खबर भी पढ़ें: गुजरात के सीमावर्ती हरामीनाला क्षेत्र से दो लावारिस पाकिस्तानी नौकाएं बरामद

उन्होंने मौजूदा समय को अपने राजनैतिक जीवन का कठिनतम तथा चुनौतीपूर्ण क्षण बताया और कहा कि वे मुकाबला करते हुए मिट जायेंगे लेकिन केन्द्र सरकार के सामने झुकेंगे नही, टूटेंगे नहीं। रावत ने ट्विटर पर लिखा, “मेरे राजनैतिक जीवन में एक बार और दुर्दश, दुर्घष चुनौतीपूर्ण क्षण आ रहा है। कुछ ताकतें मुझे मिटा देना चाहती हैं। मैं मिटू जाउंगा अवश्य परंतु टूटूंगा नहीं। मैं उत्तराखंडी गंगलोड़ (नदी के पत्थर) की तरह लुढ़कते-लुढ़कते, घिसते-घिसते इस मिट्टी में मिल जाऊंगा लेकिन टूटूंगा नहीं।

उल्लेखनीय है कि वर्ष 2016 में अपनी सरकार में बगावत के समय श्री रावत एक चैनल के पत्रकार से कथित रूप से विधायकों की बगावत को शांत करने के लिये सौदा करते हुए दिखायी दिये थे। इसके बाद राज्यपाल की रिपोर्ट पर केन्द्र ने प्रदेश में राष्ट्रपति शासन लगा दिया था लेकिन बाद में उच्च न्यायालय के हस्क्षेप के बाद उनकी सरकार फिर से बहाल हो गयी थी। इसी दौरान राज्यपाल की सहमति पर केन्द्र ने इस मामले की जांच सीबीआई को सौंप दी थी।

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब चैनल

स्टिंग आपरेशन में भ्रष्टाचार की जांच को लेकर उच्च न्यायालय में एक मामला दायर हुआ है, जिस पर सुनवाई करते हुए न्यायालय ने सीबीआई को निर्देश दिये थे कि वह प्राथमिक जांच पूरी होने पर कोर्ट को सूचित करे। सीबीआई ने गत 21 अगस्त को अदालत को सूचित कर दिया है कि उसने प्राथमिक जांच पूरी कर ली है। अदालत ने 20 सितम्बर की तिथि तय करते हुए सीबीआई से सील बंद लिफाफे में रिपोर्ट पेश करने को कहा है। इसके बाद राजनैतिक जगत में अटकलें लगायी जा रही हैं कि कांग्रेस नेता चिदबंरम की तरह ही रावत भी सीबीआई के रडार पर आ सकते हैं। 

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

More From state

Trending Now
Recommended