संजीवनी टुडे

हमें तय करना दुनिया में दिल्ली की कौन सी तस्वीर जानी चाहिए- केजरीवाल

संजीवनी टुडे 26-02-2020 21:51:21

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि आज के अखबारों ने दो तरह की खबर छापी है। पहली दिल्ली के सरकारी स्कूलों के बारे में और दूसरी दिल्ली के दंगों के बारे में।


नई दिल्ली। दिल्ली विधानसभा के तीन दिवसीय सत्र के आज तीसरे दिन उप-राज्यपाल के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा हुई। इस दौरान दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि आज के अखबारों ने दो तरह की खबर छापी है। पहली दिल्ली के सरकारी स्कूलों के बारे में और दूसरी दिल्ली के दंगों के बारे में। अब हमें तय है की दुनिया में दिल्ली की कौन सी तस्वीर जानी चाहिए।उन्होंने कहा कि सारे धर्म के लोगों एक साथ खड़े होने का वक़्त आ गया हैं। हम सबको एक साथ खड़े होने की ज़रूरत है। आधुनिक दिल्ली लाशों की नींव के ऊपर नहीं बन सकती। 

केजरीवाल ने आगे कहा कि अब नफरत की राजनीति बर्दाशत नहीं की जाएगी, दंगो की राजनीति बर्दाश्त नहीं की जाएगी। अब पूरी दिल्ली को एक साथ खड़े होकर कहना होगा कि अब ये भाई से भाई को लड़ाने वाली राजीनीति बर्दाश्त नहीं की जाएगी। इस दौरान सत्ता पक्ष और विपक्ष कई बार अपने सामने आए लेकिन विधानसभा अध्यक्ष रामनिवास गोयल ने सभी को शांत कराया और चर्चा को आगे बढ़ाया।

इससे पहले दिल्ली सरकार में मंत्री गोपाल राय ने कहा कि इस बढ़ती नफरत की आग को बस मोहब्बत की आग बुझा सकती है। उसके लिए हम सब को मिलकर प्रयास करना होगा, एक सकारात्मक अभियान शुरू करना होगा।
मंत्री राजेंद्र पाल गौतम ने कहा कि जनता के चुने हुए प्रतिनिधि का फ़र्ज़ है अगर उनके साथ चलने वाले लोग ऐसे भड़काऊ नारे लगाएं जो दंगों को बढ़ाने में सहायक हों तो प्रतिनिधि को उन्हें वहीं रोक देना चाहिए।

आप विधायक दिलीप पाण्डेय ने कहा कि कपिल मिश्रा ने जबसे अपना मुँह खोला है दिल्ली की हवा में जहर सा घुल गया है। ऐसे व्यक्ति की जल्द से जल्द गिरफ्तारी होनी चाहिए। 

दिल्ली विधानसभा  में  उप-राज्यपाल के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा में 16 विधायको को बोलने की अनुमति दी गई थी जिसमें 13 सत्ता पक्ष (आम आदमी पार्टी) और तीन विपक्ष (भाजपा)  सदस्यों ने अपनी बात रखी। 
आम आदमी पार्टी के विधायक दिलीप पांडे को चर्चा के दौरान करावल नगर से बीजेपी विधायक मोहन सिंह विष्ट ने टोकते हुए दिल्ली विधानसभा को गुमराह न करने की अपील की। इसके जवाब में दिलीप पांडे भी भाजपा विधायकों से बहस करते नजर आए। 

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने की मुआवजे की घोषणा
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि मैं दिल्ली पुलिस के हेड कांस्टेबल शहीद रतन लाल के परिवार को आश्वस्त करना चाहता हूं कि हम उनकी देखभाल करेंगे। 'आप' सरकार हिंसा में मारे गए हेड कॉन्स्टेबल रतन लाल के परिजन को एक करोड़ रुपये का मुआवजा देगी और परिवार के एक सदस्य को नौकरी देगी।

केजरीवाल ने फिर की गृहमंत्री से अपील 
केजरीवाल ने कहा कि  मैंने फिर से गृहमंत्री से अपील करता हूँ कि दिल्ली में हालात को काबू करने के लिए सेना को बुलाया जाए। मैं दिल्ली के सारे लोगों को आश्वस्त करना चाहता हूँ कि दिल्ली सरकार की तरफ से सहायता में कोई कमी नहीं रहेगी। हम दिल्ली की शांति के लिए, दिल्ली की जनता के लिए हर जरूरी कदम उठाएंगे।

यह खबर भी पढ़े: केजरीवाल ने कहा- मैं फिर से गृहमंत्री से अपील करता हूँ दिल्ली में हालात को काबू करने के लिए सेना...

यह खबर भी पढ़े: शहीद हेड कांस्टेबल रतनलाल के परिजनों को दिल्ली सरकार देगी 1 करोड़ का मुआवजा

मात्र 289/- प्रति sq. Feet में जयपुर में प्लॉट बुक करें 9314166166

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From state

Trending Now
Recommended