संजीवनी टुडे

प्रदेश में जल संचयन को युवा बनेंगे जल दूत, सरकार ने जनता से मांगे सुझाव

संजीवनी टुडे 23-06-2019 18:51:26

मध्‍यप्रदेश के कई इलाकों में सूखे के संकट से निपटने के लिए प्रदेश सरकार अब नया प्रयोग करने जा रही है।


भोपाल। मध्‍यप्रदेश के कई इलाकों में सूखे के संकट से निपटने के लिए प्रदेश सरकार अब नया प्रयोग करने जा रही है। सरकार युवाओं के माध्‍यम से लोगों में जल संरक्षण चेतना जाग्रत करने के साथ ही उन्‍हें इसके उपायों से अवगत कराएगी । इसे  लेकर रविवार मुख्‍यमंत्री कमलनाथ ने संकेत दिए हैं। मुख्‍यमंत्री ने कहा है कि सरकार पानी बचाने के काम में युवा शक्ति समितियां गठित कर युवाओं को पानी बचाने का दायित्व सौंपेगी।  उन्‍होंने युवाओं से जल दूत बनने का आग्रह किया है। साथ ही कमलनाथ ने प्रदेश की जनता से पानी को सहेजने और नये जल स्रोतों को विकसित करने के लिये अपने अनुभव और सुझाव साझा करने की अपील करते हुए कहा है कि प्रदेश में आने वाले समय में पानी को बचाने और जल राशि बढ़ाने के लिये अब जो भी काम होंगे, वह प्रदेश के नागरिकों की सलाह और साझेदारी के साथ होंगे। उन्होंने युवाओं से कहा है कि वे जहां भी हैं, जो भी काम कर रहे हैं, अपने-अपने क्षेत्रों में समाज के सभी वर्गों में पानी के संरक्षण के प्रति जागरूकता पैदा करें। 

उनका कहना है कि सूखा एक प्राकृतिक प्रकोप है। इस पर किसी का कोई बस नहीं हैं, लेकिन सूखे से निपटने की ताकत और ऊर्जा सभी लोगों में है। इसलिए हम सब मिलकर पानी बचाने का काम करें, ताकि यह संकट उत्‍पन्‍न न हो। इस बार बरसात में बारिश का पानी गांव में ही रोकने के लिए जरूरी सभी काम हम सब लोगों को करना होगा। बड़ी-बड़ी योजनाओं की बजाए ग्रामीण क्षेत्रों में स्थानीय स्तर पर तालाबों, चैकडेम, खेत-तालाबों परकोलेशन तालाब, मेढ़-बंधान, कुंआ रिचार्ज जैसे छोटे लेकिन महत्वपूर्ण काम हमें मिलकर करना होंगे। बड़े पैमाने पर पौधा-रोपण करें और उन्हें सिंचित करने के साथ सुरक्षित भी रखें।  

बड़े पैमाने पर करें पौधरोपण
मुख्यमंत्री  कमल नाथ ने कहा है कि जल संरक्षण के लिए सरकार ने विभिन्न शासकीय योजनाओं में पर्याप्त धनराशि की व्यवस्था की है। पंचायत और जन-प्रतिनिधि इस दिशा में सजग होकर अपने-अपने क्षेत्रों में व्यापक पैमाने पर पानी को बचाने का कार्य करवाएँ। इसके अलावा मुख्यमंत्री ने सभी सांसदों और विधायकों से अनुरोध किया है कि वे अपनी निधि का उपयोग पानी सहेजने के काम पर प्राथमिकता से करें। वहीं, जनसंपर्क अधिकारी मनोज पाठक ने बताया कि प्रदेश में जनता की सलाह और भागीदारी से पानी बचाने के लिये राज्य स्तर पर एक जल प्रकोष्ठ गठित किया गया है। इसकी जिम्मेदारी सचिव स्तर के अधिकारी को दी गई है। आम नागरिक 'वाटर सेल' के ई-मेल आई.डी watercellmp@gmail.com पर पानी बचाने से संबंधित गतिविधियों पर अपनी राय दे सकते हैं। उन्‍होंने बताया कि वाटर सेल पानी को सहेजने और उसके किफायती उपयोग की रणनीति तय करेगा। उनका यह भी कहना था कि मुख्‍यमंत्री नाथ प्रदेश के युवाओं की सोच, नजरिए और जोश से पानी की हर बूंद को बचाकर उसका बेहतर उपयोग करना चाहते हैं।

मात्र 260000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166 

More From state

Trending Now
Recommended