संजीवनी टुडे

प्रसिद्ध धार्मिक नगरी उज्जैन संसदीय क्षेत्र में रविवार को मतदान, केंद्रीय मंत्री गेहलोत व पूर्व मंत्री डॉ. जटिया की प्रतिष्ठा दांव पर

संजीवनी टुडे 18-05-2019 20:03:34


नागदा।  विश्व विख्यात धार्मिक नगरी उज्जैन संसदीय क्षेत्र में अंतिम चरण में रविवार, 19 मई को मतदान होगा। अबकी बार इस सीट पर मुख्य मुकाबला भाजपा एवं कांग्रेस के बीच माना जा रहा है। भाजपा ने वर्तमान सांसद डॉ. प्रो. चिंतामणि मालवीय का टिकट काटकर पर पूर्व विधायक अनिल फिरोजिया को मैदान में उतारा है। फिरोजिया हाल ही में तराना विधासभा सीट से हारे गए थे। उधर, कांग्रेस ने दिग्विजय सिंह सरकार में राज्य मंत्री रहे बाबूलाल मालवीय को टिकट दिया है। दोंनों उम्मीदवार पहली बार सांसद का चुनाव लड़ रहे हैं।

इस क्षेत्र में कुल 8 विधानसभा क्षेत्र शामिल हैं। विधानसभा क्षेत्र नागदा-खाचरौद के मूल निवासी केंदीय मंत्री थावरचंद गेहलोत हैं। इस कारण इस सीट को उनकी प्रतिष्ठा की माना जा रहा है। इसी प्रकार से भाजपा के वरिष्ठ नेता पूर्व केंद्रीय मंत्री व वर्तमान में राज्यसभा सदस्य डॉ. सत्यनारायण जटिया भी उज्जैन के निवासी हैं। उधर, कांग्रेस खेमे में बात की जाए तो 5 कांग्रेस विधायकों की प्रतिष्ठा दांव पर मानी जा रही है, जो गत चुनाव जीत कर विधानसभा में पहुंचे हैं। नागदा सीट एक और जहां मंत्री गेहलोत के गृहनगर से जुड़ी है तो कांग्रेस के विधायक दिलीपसिंह गुर्जर की प्रतिष्ठा भी दांव पर है। गुर्जर पूरे उज्जैन संसदीय क्षेत्र में सबसे अधिक 4 बार चुनाव जीत कर विधानसभा पहुंचे हैं। वे मप्र कांग्रेस के कमेटी के महासचिव भी हैं। इसी प्रकार से घटिया विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस के रामलाल मालवीय तीसरी बार विधायक बने हैं। बडऩगर विधानसभा से कांग्रेस के मुरली मोरवाल तथा आलोट से मनोज चावला पहली बार विधानसभा पहुंचे हैं।

उज्जैन संसदीय सीट वर्ष 1967 से अजा वर्ग के लिए सुरक्षित है। उज्जैन संसदीय क्षेत्र मे तीन विधानसभा उज्जैन उत्तर, उज्जैन दक्षिण व महिदपुर में भाजपा का कब्जा है। उज्जैन में शिवराजसिंह सरकार में मंत्री रहे पारस जैन तथा मोहन यादव विधायक हैं। इसी प्रकार से महिदपुर में भाजपा के विधायक बहादुरसिंह चौहान है। जिला निर्वाचन कार्यालय उज्जैन से मिली जानकारी के अनुसार संसदीय क्षेत्र में 2066 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। कुल मतदाता 16 लाख 59 हजार 643 है। जिसमें पुरूष मतदाता 8 लाख 49 हजार 262 तथा महिला वोटर्स 8 लाख 18 हजार 39 है।  अन्य अथवा किन्नर मतदाताओं की संख्या 72 है।  मंत्री गेहलोत के गृह नगर  नागदा विधानसभा सीट पर कुल 2 लाख 8 हजार  782 मतदाता उम्मीदवारों के भाज्य का निर्धारण करेंगे। जिसमें से 1 लाख 6 हजार 853 पुरूष, 1 लाख 1 हजार 916 महिला तथा 3 किन्नर मतदाता है।

इस क्षेत्र में 265 मतदान केद्र बनाए गए हैं। केंद्रीय मंत्री गेहलोत से जुड़ी इस प्रतिष्ठा की सीट पर चुनाव अभियान की बात की जाए तो भाजपा के राष्टीय अध्यक्ष अमित शाह ने खाचरौद में आमसभा ली थी। वही पूर्व मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने 4 सभा व भाजपा प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह तथा केंद्रीय मंत्री नरेंद्रसिंह तोमर ने रोड शो किया था। इधर, कांग्रेस में मुख्यमंत्री कमलनाथ ने नागदा में तथा पूर्व मुख्यमंत्री दिज्विजयसिंह ने उन्हेल में आमसभी ली है। कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने तराना में आम सभा तथा प्रियंका गाड़ी ने उज्जैन में रोड शो किया था।  

उज्जैन संसदीय सीट पर हार जीत की बात की जाए तो यह सीट भाजपा का गढ़ मानी जाती है। वर्ष 2014 के चुनाव में भाजपा उम्मीदवार प्रो. चितांमणि मालवीय ने कांग्रेस उम्मीदवार प्रेमचंद गुड्डू को रिकॉर्ड मत 3 लाख 9 हजार 663 से पराजित किया था। मालवीय को 6 लाख 41 हजार मत मिले थे। उधर कांग्रेस उम्मीदवार मात्र 3 लाख 31 हजार 438 वोटों पर सिमट गए थे। इस सीट की यह भी विशेषता रही हैकि भाजपा के उम्मीदवार डॉ. सत्यनारायण जटिया आठ बार चुनाव जीते हैं। डॉ जटिया इस सीट से केंद्रीय मंंडल में भी बतौर श्रम मंत्री बने थे। उज्जैन संसदीय सीट के पहले आम चुनाव 1952 में कांग्रेस के राधेलाल व्यास चुनाव जीते थे। वर्ष 57 तथा 62 में भी यह सीट कांग्रेस की झोली में गई। इस प्रकार तीन बार राधेलाल व्यास ने जीत दर्ज की थी। वर्ष 1967  और 1971 में भारतीय जनसंघ के उम्मीदवारों का जीत मिली थी। वर्ष 1977 के चुनाव में भारतीय लोकदल के हुकुमचंद कछवाय चुनाव जीते थे। वर्ष 1980 से भाजपा ने पांव जमाना शुरू किए। इस वर्ष डा. जटिया पहली बार चुनाव लड़े और सफ लता मिली। हालांकि 1984 के चुनाव में डॉ जटिया काग्रेस के सत्यनाराण पंवार से हार गए। इसके बाद कांग्रेस 1989 से लेकर 2009 तक अपना खाता नहीं खोल पाई।

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब बटन

उज्जैन संसदीय क्षेत्र के संयोजक सुल्तानसिंह शेखावत ने हिन्दुस्थान समाचार संवाददाता को बताया भाजपा उम्मीदवार फिरोजिया ने संसदीय क्षेत्र के लगभग सभी गांवों में जनसंर्पक किया है। इसी प्रकार से कांग्रेस के जिला कार्यवाहक अध्यक्ष सुबोध स्वामी ने बताया कांग्रेस उम्मीदवार ने भी संपर्क पूरा कर लिया है।  संसदीय क्षेत्र में शामिल नागदा विधानसभा का मतदाता हार-जीत में निर्णायक माना जा रहा है।  बताया जा रहा है कि प्रशासन ने सुरक्षा के सारे इंतजाम  पूरे कर लिए हैं। सुरक्षा के लिए बाहर से 9 कंपनियां पहुंची हैं।

मात्र 240000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

More From state

Trending Now
Recommended