संजीवनी टुडे

राजस्थान में मतदान शुक्रवार को, तैयारियां पूर्ण

संजीवनी टुडे 06-12-2018 19:54:31


जयपुर। राज्य में पौने पांच करोड़ से अधिक मतदाता शुक्रवार सात दिसम्बर को अपनी सरकार चुनेंगे। प्रदेश में 199 विधानसभा सीटों पर शुक्रवार को मतदान होगा। सुबह 8 से शाम 5 बजे तक प्रदेश के 51 हजार 687 मतदान केन्द्रों पर ईवीएम और वीवीपैट मशीनों से मतदान कराया जाएगा। इस चुनाव में वीवीपैट मशीनों का प्रयोग पहली बार किया जा रहा है। प्रदेश के 199 निर्वाचन क्षेत्रों से कुल 2274 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। स्वतंत्र, निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण चुनाव के लिए सभी आवश्यक तैयारियां पूर्ण कर ली गई हैं। अलवर जिले के रामगढ़ विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से बहुजन समाज पार्टी के प्रत्याशी लक्ष्मण सिंह का 29 नवम्बर को देहांत होने के कारण वहां का चुनाव स्थगित कर दिया गया है। निर्वाचन आयोग ने इसके लिए दुबारा तारीख का निर्धारण अभी तक नहीं किया गया है। मतगणना 11 दिसम्‍बर को जिला मुख्यालयों पर करवाई जाएगी। 
 
मुख्य निर्वाचन अधिकारी आनंद कुमार ने गुरुवार को ये जानकारी देते हुए बताया कि राज्य में कुल 199 विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों के लिए कुल चार करोड़ 74 लाख 37 हजार 761 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। इनमें से दो करोड़ 47 लाख 22 हजार 365 पुरुष एवं दो करोड़ 27 लाख 15 हजार 396 महिला मतदाता हैं। इनमें से पहली बार मतदान कर रहे युवा मतदाताओं की संख्या 20 लाख 20 हजार 156 है। राज्य में सेवानियोजित मतदाताओं की संख्या एक लाख 16 हजार 456 है, जिनको पोस्टल बेलेट पेपर प्रेषित किए जा चुके हैं।
 
कुल 2274 उम्मीदवार चुनाव मैदान मेंः प्रदेश के 199 विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों से कुल 2274 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। इनमें कांग्रेस से 194, भाजपा से 199 उम्मीदवार, बसपा से 189, एनसीपी से एक, सीपीआई से 16 एवं सीपीआई(एम) से 28 उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे हैं, जबकि 817 गैरमान्यता प्राप्त दलों के प्रत्याशी एवं 830 निर्दलीय उम्मीदवार चुनाव मैदान में जोर-आजमाइश करते नजर आ रहे हैं। इनमें से 2087 पुरुष और 187 महिला प्रत्याशी हैं। मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि इस चुनाव में ईवीएम के प्रयोग के साथ-साथ संपूर्ण प्रदेश में वीवीपैट मशीनों का प्रयोग भी पहली बार किया जा रहा है। वीवीपैट मशीन से मतदाता इस बात की पुष्टि कर सकेंगे कि उसने जिस उम्मीदवार के पक्ष में मतदान किया है, उसका वोट उसी उम्मीदवार के पक्ष में गया है। उन्होंने बताया कि विधानसभा आम चुनाव-2018 में 68 हजार 894 बेसिक यूनिट, 59 हजार 160 कंट्रोल यूनिट एवं 68 हजार 303 वीवीपैट मशीनों का प्रयोग किया जा रहा है। इसके अलावा रिजर्व के रूप में भी पर्याप्त मशीनें उपलब्ध हैं। इस बार जयपुर जिले की किशनपोल विधानसभा क्षेत्र में 46 उम्मीदवार होने के कारण प्रत्येक मतदान केन्द्र पर 3 बीयू मशीन का प्रयोग किया जाएगा। जबकि सम्पूर्ण राज्य में कुल 33 विधानसभा क्षेत्र ऐसे हैं, जिनमें 2-2 बीयू मशीन का प्रयोग किया जाएगा।
 
कुमार ने बताया कि राज्य में कुल 4 लाख 36 हजार 125 मतदाता विभिन्न श्रेणियों के दिव्यांग जन हैं। मतदान केन्द्रों पर उनकी सुविधा के लिए सभी मतदान केन्द्रों पर रैम्प्स, व्हील चेयर तथा सहायता के लिए एक लाख 3 हजार 166 स्काउट गाइड, एनएसएस और एनसीसी के वॉलेंटियर लगाए गए हैं। दिव्यांगजनों को एवं उनके सहायकों को घर से लाने ले जाने के लिए भी परिवहन की व्यवस्था की गई है। उन्होंने बताया कि महिला सशक्तिकरण को ध्यान में रखते हुए नवाचार के रूप में 259 महिला प्रबंधित मतदान केन्द्र स्थापित किए जा रहे हैं, जिनमें मतदान दलकर्मी, सुरक्षाकर्मी इत्यादि सभी महिलाएं होंगी। इस बार दिव्यांगजनों द्वारा स्वेच्छा से मतदान कर्मियों के रूप में अपनी सेवाएं देने का आग्रह किया गया है, जिसे स्वीकार करते हुए उदयपुर में 2 एवं नागौर में 01 मतदान केन्द्र ऐसे बनाए जा रहे हैं, जहां सभी मतदानकर्मी दिव्यांगजन होंगे, जो यह संदेश देंगे कि वे किसी भी प्रकार से सामान्य जन से कम नहीं हैं। प्रदेश के 199 विधानसभा क्षेत्रों के लिए कुल 51 हजार 687 मतदान केन्द्रों की स्थापना की गई है। मतदान के लिए 209 आदर्श मतदान केन्द्र के रूप में स्थापित किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि सी-विजिल एप से अब तक 3 हजार 784 से अधिक शिकायतें प्राप्त हो चुकी हैं। इनमें से 3 हजार 98 शिकायतें सही पाई गईं। रिटर्निंग अधिकारी द्वारा जांच के बाद 491 शिकायतें ड्रॉप की गई हैं। इसी प्रकार डीसीसी द्वारा 166 शिकायतें ड्रॉप की गई हैं।
 
उन्होंने बताया कि राज्य में कुल 13 हजार 382 संवेदनशील मतदान केन्द्र हैं, जिनमें से 4 हजार 982 मतदान केन्द्रों पर माइक्रो ऑब्जर्वर, 3 हजार 948 मतदान केन्द्रों पर विडियोग्राफर, 3 हजार 138 मतदान केन्द्रों पर वेबकास्टिंग और 7 हजार 791 मतदान केन्द्रों पर केन्द्रीय सुरक्षा बल (सीपीएमएफ) की तैनाती की हुई है। राज्य में कुल 387 नाके और चैक पोस्ट लगाए गए हैं। इसके अलावा कुल 1 लाख 44 हजार 941 पुलिस जाब्ता तैनात किया जा रहा है, जिसमें 640 कंपनियां केन्द्रीय सुरक्षा बल की हैं। करोड़ों रुपए का अवैध धन और शराब जब्तः उन्होंने बताया कि आदर्श आचार संहिता लागू होने के बाद कुल 14.93 करोड़ रुपए नकद, 3 लाख 96 हजार 161 लीटर (मूल्य अनुमानित रुपए 25.11 करोड़) अवैध शराब, 7.48 करोड़ रुपए मूल्य की ड्रग एवं नारकोटिक पदार्थ, 17.10 किलोग्राम सोना तथा 601.13 किलोग्राम चांदी (कुल मूल्य 6.88 करोड रुपये) तथा 260 विभिन्न प्रकार के वाहन (मूल्य 11.89 करोड रुपये) इस तरह कुल 66.31 करोड़ रुपये मूल्य की विभिन्न जब्तियां की गई हैं। राज्य में आदर्श आचार संहिता लागू होने के पश्चात् विभिन्न वाहनों की चैकिंग के बाद फाइन या पेनल्टी के 16.08 करोड़ रुपये जमा

जयपुर में प्लॉट/ फार्म हाउस: 21000 डाउन पेमेन्ट शेष राशि 18 माह की आसान किस्तों में, मात्र 2.30 लाख Call:09314166166
MUST WATCH & SUBSCRIBE

किए गए हैं। 
sanjeevni app

More From state

Loading...
Trending Now
Recommended