संजीवनी टुडे

दूरदर्शन के समर्पण कार्यक्रम में दिखेगा भारत रत्न नानाजी की दीनदयाल शोध संस्थान की ग्राम जीवनी

संजीवनी टुडे 28-03-2020 14:28:56

मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम की तपोभूमि धर्म नगरी चित्रकूट को अपनी कर्मभूमि बनाने वाले भारत रत्न नानाजी देशमुख के विराट व्यक्तित्व को शब्दों में बांधना सरल नहीं है।


चित्रकूट। मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम की तपोभूमि धर्म नगरी चित्रकूट को अपनी कर्मभूमि बनाने वाले भारत रत्न नानाजी देशमुख के विराट व्यक्तित्व को शब्दों में बांधना सरल नहीं है। उन्होंने अपने जीवन काल में सामाजिक तथा राजनीतिक क्षेत्र में ऐसा काम किया है, जो सदैव अनुकरणीय रहेगा। 

पंडित दीनदयाल उपाध्याय के एकात्म मानव दर्शन को व्यावहारिक रूप प्रदान करने की दिशा में संकल्पित नानाजी द्वारा सृजित रचनात्मक प्रकल्प के रूप में चित्रकूट का दीनदयाल शोध संस्थान इसका जीवंत उदाहरण है। रविवार 29 मार्च सुबह 10 बजे दूरदर्शन के राष्ट्रीय चैनल डीडी वन पर आरूषा फिल्म क्रिएशन की प्रस्तुति समर्पण कार्यक्रम में दीनदयाल शोध संस्थान चित्रकूट के समाज मूलक कार्यों से परिचय कराया जाएगा।        

दीनदयाल शोध संस्थान के उप महाप्रबंधक डॉ अनिल जायसवाल ने शनिवार को बताया कि भारत रत्न से अलंकृत राष्ट्रऋषि नाना जी देशमुख ने भगवान श्रीराम की तपोभूमि चित्रकूट को अपनी कर्मभूमि बना कर समूचे राष्ट्र में स्वावलम्बन की अलख जगाई है। उन्होंने बताया कि भारत रत्न नानाजी देशमुख दीनदयाल शोध संस्थान नामक सेवा कार्य के रचेता, पालनकर्ता और मार्गदर्शक थे। नानाजी की इस संस्था का परिचय केवल एक संस्था का परिचय नहीं, बल्कि समष्टि के चिंतन का परिचय है। इस संस्था का परिचय स्वयंपूर्ण ग्राम जीवन का परिचय है। नानाजी ने चित्रकूट के परिसर में सेवा कार्य की विशाल श्रंखला खड़ी की है। 

डॉ. जायसवाल ने बताया कि संस्थान ने विविध प्रकल्पों के माध्यम से जो समाजोपयोगी प्रयोग किए हैं और आमजन की जिस तरह भागीदारी रही है, उन सबको पिरोकर समर्पण कार्यक्रम के माध्यम से नेशनल दूरदर्शन पर रविवार को प्रातः 10 बजे प्रसारित किया जाएगा।उन्होंने  सामाजिक जीवन से सरोकार रखने वाले इस प्रेरणादायक कार्यक्रम को देखने की अपील आमजन से की है।

यह खबर भी पढ़े: Coronavirus: ट्रंप ने चीन के राष्ट्रपति से की बात, बोले- हम दोनों साथ में काम कर रहे हैं

यह खबर भी पढ़े: अजीबोगरीब घटना: लॉकडाउन के बीच ओडिशा के समुद्र तट पर अंडे देने पहुंचे 8 लाख कछुए, आखिर ऐसा क्यों?

जयपुर में प्लॉट मात्र 289/- प्रति sq. Feet में बुक करें 9314166166

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From state

Trending Now
Recommended