संजीवनी टुडे

राजधानी में फिर सब्जियों के भाव आसमान पर

संजीवनी टुडे 17-06-2019 18:47:03

भीषण गर्मी और बारिश की बेरूखी के चलते एक बार फिर सब्जियों के भाव आसमान छूने लगे हैं, हालांकि, इस समय प्रदेश में बारिश का दौर अभी ठीक तरह से शुरू नहीं हुआ है फिर भी सब्जियां महंगी होने लगीं हैं


भोपाल। भीषण गर्मी और बारिश की बेरूखी के चलते एक बार फिर सब्जियों के भाव आसमान छूने लगे हैं, हालांकि, इस समय प्रदेश में बारिश का दौर अभी ठीक तरह से शुरू नहीं हुआ है फिर भी सब्जियां महंगी होने लगीं हैं। बताया जाता है कि बारिश होने से सब्ज्यिों की पैदावार कम होती है और खपत ज्‍यादा, लेकिन अभी तो बारिश भी नहीं हो रही है । पैदावार भले ही कम हो, किन्‍तु थोड़ी ही सही सब्‍जी बिना काम नहीं चलेगा। बात कर रहे हम टमाटर की जो पिछले महीने पांच से दस रुपये किलो बिक रहा, तो लेकिन  इस समय एक बार फिर पूरे लाल रंग में रंग गया है। 

मध्‍यप्रदेश में इस समय मंडियों में सब्जियों की आवक कम होती जा रही है। मुख्‍य कारण है मानसून की बेरूखी। पानी की किल्‍लत के चलते किसान सब्जियों की पैदावार कम कर पा रहा है जिसके कारिण मंडियों में सब्‍जी की आवक कम हो रही है और यही कारण है कि हरी सब्जियों के भाव ऊंचे आसमान छूने लगे हैं।  राजधानी में टमाटर 40 रुपये से लेकर 50 रुपये किलो तक बिकने लगा है। 

महंगाई का कारण 

प्रदेश में समय पर मानसून का आगमन नहीं होना जिससे किसानों द्वारा सब्जियों की खेती नहीं कर पाए। इसी कारण अब ज्‍यादातर सब्जियां राज्‍य के बाहर से आ रही है। ऐसे में यहां सब्जियों की किल्लत हो गई है और अपने आप इनके दामों में बढ़ोतरी हो गई । 

राजधानी की करोंद मंडी के थोक बिक्रेता शहनबाज हुसैन का कहना है कि गर्मी के चलते पिछले दो तीन माह से सब्जियों की आवक पूरी तरह कम हो गई। जो किसान पहले आसपास से हरी सब्जियां मंडी लाते थे अब नहीं आ रहे हैं क्‍योंकि पानी नहीं होने के कारण किसान स‍ब्‍जी पैदा ही नहीं कर पा रहे हैं। अब ज्‍यादातर सब्ज्यिों की आवक बाहर से हो रही है। इसलिए महंगी बिक रही हैं। 

एक नजर सब्जियों की भाव

टमाटर  50
मेथी की भाजी 50
हरी मिर्ची  80
करेला  50
लौकी 40
आलू 20
प्याज  15
शिमला मिर्च 50
भिंडी 40
फूल गोभी 60 
बंद गोभी 50 
बैंगन 40
ग्‍वारफली 40
टिंडा 40 
परवल 50 

मात्र 260000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166 

More From state

Trending Now
Recommended