संजीवनी टुडे

उत्तराखंड उच्च न्यायालय का महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी को नोटिस

इनपुट- यूनीवार्ता

संजीवनी टुडे 12-02-2020 11:28:40

उत्तराखंड उच्च न्यायालय ने मंगलवार को पूर्व मुख्यमंत्रियों को आवास एवं अन्य सुविधायें प्रदान करने के मामले में पारित अधिनियम को चुनौती देने वाली जनहित याचिका की सुनवाई करते हुए महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी समेत दो अन्य पूर्व मुख्यमंत्रियों को नोटिस जारी किया हैं।


नैनीताल। उत्तराखंड उच्च न्यायालय ने मंगलवार को पूर्व मुख्यमंत्रियों को आवास एवं अन्य सुविधायें प्रदान करने के मामले में पारित अधिनियम को चुनौती देने वाली जनहित याचिका की सुनवाई करते हुए महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी समेत दो अन्य पूर्व मुख्यमंत्रियों को नोटिस जारी किया हैं।

मुख्य न्यायाधीश रमेश रंगनाथन और न्यायमूर्ति रमेश चंद्र खुल्बे की युगलपीठ ने ये निर्देश देहरादून की गैर सरकारी संस्था रूरल लिटिगेशन एंड एनटाइटलमेंट केन्द्र (रलेक) की ओर से दायर जनहित याचिका की सुनवाई करते हुए दिये हैं। याचिका में उत्तराखंड के पांच पूर्व मुख्यमंत्रियों को सुविधायें उपलब्ध कराने के मामले में हाल ही में पारित उत्तराखंड भूतपूर्व मुख्यमंत्री सुविधा (आवासीय एवं अन्य सुविधायें अधिनियम 2020) को चुनौती दी गयी है।

इससे पहले याचिकाकर्ता ने इसी मामले में राज्य सरकार की ओर से पारित अध्यादेश को चुनौती दी गयी थी। जिस पर अंतिम सुनवाई के बाद निर्णय सुरक्षित है।

याचिकाकर्ता के अधिवक्ता की ओर से अदालत को बताया गया कि उच्च न्यायालय की ओर से पक्षकार सभी पूर्व मुख्यमंत्रियों को पिछली तिथि को नोटिस जारी किये गये थे लेकिन दो पूर्व मुख्यमंत्रियों को नोटिस नहीं मिल पाया हैं। नोटिस वापस आ गये हैं। उन्होंने न्यायालय से राज्य सरकार के माध्यम से नोटिस उपलब्ध कराने का अनुरोध किया जिसे न्यायालय ने स्वीकार कर लिया।

उच्च न्यायालय ने राज्य सरकार को भी इस मामले में जवाब पेश करने के निर्देश दिये हैं। मामले में अगली सुनवाई 25 फरवरी को होगी।

यह खबर भी पढ़ें:​ दिल्ली में केजरीवाल की हैट्रिक, आज उपराज्यपाल अनिल बैजल से करेंगे मुलाकात

यह खबर भी पढ़ें:​ .. तो ऐसे केजरीवाल ने जीता मुस्लिम वोटर्स का दिल, जानकर आप भी हो जायेंगे हैरान

जयपुर में प्लॉट मात्र 289/- प्रति sq. Feet में  बुक करें 9314166166

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From state

Trending Now
Recommended