संजीवनी टुडे

मुख्यमंत्री ने समीक्षा बैठक में अफसरों को दिए विकास कार्यों में तेजी लाने के निर्देश

संजीवनी टुडे 24-10-2020 17:55:14

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने यहां विकास भवन सभागार में अधिकारियों के साथ विभिन्न योजनाओं और कार्यों की समीक्षा की।


बागेश्वर। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने यहां विकास भवन सभागार में अधिकारियों के साथ विभिन्न योजनाओं और कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने शासकीय योजनाओं की प्रगति की जानकारी प्राप्त करते हुए विकास कार्यों में और तेजी लाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार विकास एवं जनकल्याणकारी योजनाओं के माध्यम से प्रदेश की जनता को लाभान्वित करने के लिए प्रतिबद्ध है।

मुख्यमंत्री ने स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा करते हुए कहा कि मौजूदा समय में कोविड-19 से निपटने के लिए हम सभी को सामूहिक रूप से प्रयास करने होंगे और इसमें किसी भी प्रकार का शिथिलता न बरती जाए। उन्होंने सभी लोगों तक मास्क की उपलब्धता के लिए महिला समूह के माध्यम से मास्क बनाने को कहा। कोरोना संक्रमण वायरस के नियंत्रण व रोकथाम के लिए लगातार प्रचार-प्रसार किया जाए।

प्रधानमंत्री रोजगार सृजन योजना की समीक्षा के दौरान उन्होंने कहा कि इस योजना से लाभार्थियों को लाभान्वित करने के लिए विभाग निरंतर बैंकों के साथ समन्वय स्थापित करें। लाभार्थियों की परेशानियों को दूर करने के लिए बैंकों के साथ मेले का आयोजन करें तथा इसके लिए जनपद स्तर पर एक नोडल अधिकारी की तैनाती की जाए। उन्होंने पशुपालन विभाग को पोल्ट्री के क्षेत्र में सुनियोजित तरीके से कार्य करने को कहा। मनरेगा की समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री ने अधिक से अधिक व्यक्तियों का पंजीकरण कराने के निर्देश दिए। ग्रोथ सेंटर योजना की समीक्षा के दौरान उन्होंने कहा कि ग्रोथ सेंटर आत्मनिर्भर भारत और वोकल फोर लोकल का अच्छा उदाहरण है, इसलिए ग्रोथ सेंटर से जुड़े लोगों के स्किल डेवलवमेंट की भी व्यवस्था की जाए। ग्रोथ सेंटरों की उत्पादों की सीजनल ही नहीं बल्कि नियमित बिक्री सुनिश्चित की जाए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि शहद की बहुत मांग रहती है, इसलिए इससे संबंधित ग्रोथ सेंटर बनाए जाने के लिए कार्य किया जाए। उन्होंने मसाला प्रसंस्करण ग्रोथ सेंटर के बारे में कहा कि इसके उत्पाद पूर्ण रूप से आर्गेनिक हों तथा इन्हें प्रमाणित एजेंसी द्वारा प्रमाणित कराया जाए। उन्होंने किसानों की आय में अभिवृद्धि के लिए भेड़ पालकों को संगठित करने को कहा ताकि भेड़ पालक ऊन को एकत्रित कर क्रेता विक्रेता सम्मेलन के माध्यम से विक्रय कर पायें, जिससे उनकी आय में अभिवृद्धि हो तथा उन्हें उन्नत नस्लों के भेड़ों को पालने के लिए प्रोत्साहित किया जाए।

जल जीवन मिशन की समीक्षा करते हुए उन्होंने कहा कि इस योजना के तहत एक रुपये में पानी के कनेक्शन दिए जा रहे हैं। इसके लिए उन्होंने ग्राम व न्यायपंचायत स्तर पर कार्य योजना तैयार करने को कहा। सिंचाई विभाग द्वारा बागेश्वर के घाट निर्माण के संबंध में उन्होंने कहा कि निर्माण कार्यों में स्थानीय पत्थरों का उपयोग किया जाए। जिला योजना की समीक्षा के दौरान उन्होंने कहा कि 40 प्रतिशत धनराशि का व्यय रोजगारपरक योजनाओं पर अनिवार्य रूप से किया जाए।

बैठक से पूर्व मुख्यमंत्री ने जनपद में ई ऑफिस का शुभारम्भ किया। इस संबंध में जिलाधिकारी विनीत कुमार ने अवगत कराया कि इस प्रक्रिया को जिला कार्यालय से शुरू किया जा रहा है। इस दौरान  मुख्यमंत्री ने ग्राम्या, ग्राम्य विकास विभाग, आजीविका सहयोग परियोजना तथा जिला उद्योग केन्द्र द्वारा लगाये गये स्टॉलों का निरीक्षण कर उनकी तारीफ की। इससे पहले प्रातः मुख्यमंत्री ने बागनाथ मंदिर में जाकर पूजा अर्चना कर मंदिर की परिक्रमा की।

यह खबर भी पढ़े: भाजपा सांसद रवि किशन ने कहा, मोदी और योगी के नेतृत्व में हो रहा ऐतिहासिक विकास

यह खबर भी पढ़े: Bihar Election: मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा, कोरोना फ्री वैक्सीन पर हर भारतीय का अधिकार

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From state

Trending Now
Recommended