संजीवनी टुडे

उत्तर प्रदेश उपचुनाव : प्रत्याशियों के प्रचार ने पकड़ा जोर, बाहर से भी जुटने लगे समर्थक

संजीवनी टुडे 27-10-2020 17:45:36

उपचुनाव में विधायक बनने की होड़ में समाजवादी पार्टी के प्रत्याशियों में से सबसे अच्छी स्थिति में मल्हनी विधानसभा से सपा प्रत्याशी लकी यादव है।


लखनऊ। उत्तर प्रदेश में उपचुनाव में सपा, बसपा, कांग्रेस, भाजपा और निर्दल प्रत्याशियों का प्रचार जोर पकड़ लिया है। ज्यादातर विधानसभाओं में पार्टी प्रत्याशी के समर्थन में बाहरी समर्थकों का जुटना हो रहा है। ये समर्थक सुबह से शाम तक प्रचार करने के बाद अपने जिलें या आसपास के जिलों में चले जा रहे हैं। 

उपचुनाव में विधायक बनने की होड़ में समाजवादी पार्टी के प्रत्याशियों में से सबसे अच्छी स्थिति में मल्हनी विधानसभा से सपा प्रत्याशी लकी यादव है। उनके समर्थन में प्रचार करने वाले पार्टी कार्यकर्ताओं में आसपास के जिले आजमगढ़, वाराणसी, सुल्तानपुर से समर्थकों का आना निरंतर जारी है। अच्छी स्थिति में होने के बावजूद लकी यादव को भाजपा के उम्मीदवार मनोज सिंह और निर्दल प्रत्याशी धनंजय सिंह से कांटे ही टक्कर मिल रही है। वहीं बसपा, कांग्रेस के प्रत्याशियों की चुनावी स्थिति अभी मिलीजुली दिख रही है। 

देवरिया में सदर विधानसभा से चुनाव मैदान में उतरे प्रत्याशियों में सबसे आगे भाजपा के प्रत्याशी डा.सत्य प्रकाश मणि त्रिपाठी नजर आ रहे है। चुनावी मैदान में डा.सत्य प्रकाश मणि की लड़ाई सपा के प्रत्याशी ब्रह्माशंकर त्रिपाठी और बसपा के प्रत्याशी अभयमणि त्रिपाठी से है। भाजपा प्रत्याशी डा.त्रिपाठी के प्रचार में बाहर से उनके लिए प्रचार करने आने वाले समर्थकों की भरमार है। देवरिया सदर क्षेत्र में अपने रिश्तेदारों के यहां रुककर भाजपा प्रत्याशी के समर्थक जोर शोर से प्रचार कर रहे हैं। वे दिन के वक्त रिश्तेदारी में ही चौपाल लगा ले रहे है और प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के विकास कार्यो को गिनाते हुए दिख रहे है। 

देवरिया सदर में ही भाजपा के नेता अजय सिंह पिंटू अपने पिता स्वर्गीय जन्मेजय सिंह की मृत्यु के बाद उनकी खाली हुई सदर सीट पर निर्दल प्रत्याशी के रुप में उतरे हैं। अजय सिंह को भाजपा ने टिकट नहीं दिया है। इनके समर्थक भी बाहर के जिलों गोरखपुर, कुशीनगर से आ कर देवरिया में डेरा डाले हुए है। देवरियों के ग्रामीण क्षेत्रों से रोजाना सदर विधानसभा क्षेत्र में आने और प्रचार कर वापस शाम तक चले जाने का सिलसिला जारी है। 

अमरोहा जिले की नौगांवा सादात विधानसभा सीट पर भाजपा ने संगीता चौहान, सपा ने मौलाना जावेद आब्दी, कांग्रेस ने कमलेश चौधरी और बसपा ने फुरकान अहमद को अपना प्रत्याशी बनाया है। इस सीट पर कांग्रेस के प्रत्याशी कमलेश के समर्थन में बाहर से प्रत्याशियों को आना जाना लगा हुआ है। कांग्रेस प्रत्याशी के समर्थन में प्रचार करने वाले एक एक घरों तक पहुंचने का प्रचास कर रहे हैं। 

उन्नाव जिले के बांगरमऊ विधानसभा सीट पर सपा से चुनाव लड़ रहे सुरेश पाल और बसपा के प्रत्याशी महेश पाल के समर्थन में बाहर से आने वाले लोगों में ज्यादातर उनके ही जाति के लोगों की संख्या है। वे अपने अपने रिश्तेदारों को पार्टी के प्रत्याशी के बारें में समझा रहे है और जीत दिलाने के लिए वचन ले रहे हैं। इसके अलावा भाजपा से चुनाव मैदान में उतरे श्रीकांत कटियार के प्रचार के लिए लखनऊ, फैजाबाद तक से समर्थक बांगरमऊ आ रहे हैं। 

बता दें कि उत्तर प्रदेश के उपचुनाव ​में राजनीति दलों ने भी अपने स्टार प्रचारकों, प्रमुख नेताओं को प्रचार में उतारा है। इसमें भाजपा के युवा नेताओं को भी विभिन्न विधानसभाओं को लगाया गया है, जो विधानसभाओं में प्रचार करने आसपास के जिलों से आते जाते रह रहे हैं। समाजवादी पार्टी के स्टार प्रचारकों के द्वारा भी विधानसभा क्षेत्रों में अपना पूरा समय दिया जा रहा हैं। बसपा की ओर से सबसे बड़े स्टार प्रचारक सतीश चंद्र मिश्रा धुंआधार प्रचार कर रहे हैं और प्रत्येक विधानसभा में ब्राह्मण मतदाता को लुभाने के लिए प्रदेश सरकार पर निशाना साध रहे हैं। 

कांग्रेस पार्टी की तरफ से प्रदेश अध्यक्ष अजय लल्लू ने विधानसभा अनुसार टीमें बनाकर प्रचार में जुटे हैं। यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं द्वारा उपचुनाव में सोशल मीडिया का उपयोग जोरो पर किया जा रहा है।

यह खबर भी पढ़े: 2+2 वार्ता: भारत और अमेरिका के बीच इन पांच समझौतों पर हुए हस्ताक्षर, दोनों देशों की दोस्ती हुई मजबूत

यह खबर भी पढ़े: फिल्म 'मोहब्बतें' के 20 साल पूरे, अमिताभ बच्चन बोले- मोहब्बतें बहुत कारणों से है खास

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From state

Trending Now
Recommended