संजीवनी टुडे

अनूठी पहल: गांव के युवाओं ने लॉक डाउन तक बाहरी लोगों के प्रवेश पर लगाई पाबंदी

संजीवनी टुडे 28-03-2020 13:28:11

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस से बचाव के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा किये गये 21 दिनों के लॉक डाउन के आह्वान का व्यापक असर अब चित्रकूट जिले के ग्रामीण अंचलो में भी नजर आने लगा है।


चित्रकूट। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस से बचाव के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा किये गये 21 दिनों के लॉक डाउन के आह्वान का व्यापक असर अब चित्रकूट जिले के ग्रामीण अंचलो में भी नजर आने लगा है। मुख्यालय से सटे सदर ब्लाक कर्वी के इटरौर भीषमपुर गांव में युवाओं ने ग्रामीणों को कोरोना महामारी से बचाने के लिए कड़ा रुख अख्तियार किया ही। गांव की मुख्य सड़क पर बैनर लगा कर लॉक डाउन तक बाहरी लोगों के प्रवेश पर पूरी तरह से पाबन्दी लगाई गई है। 

दुनिया के कई देशो में तबाही मचाने के बाद वैश्विक महामारी कोरोना वायरस अब भारत में कहर बरपाना शुरू कर दिया है। कोरोना के संक्रमण से बचने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 21 दिनों के लाक डाउन का आह्वान किया गया है। जिसका पहले जहां केवल शहरी इलाको में प्रभाव देखने को मिल रहा था। वही महामारी के प्रति बढ़ी जागरूकता का असर चित्रकूट जिले के ग्रामीण अंचलों में भी दिखाई पड़ने लगा है। शनिवार को जिले के सदर ब्लाक कर्वी के इटरौर भीषमपुर गांव के राजेश पटेल, अमर सिंह, विलास, राघवेंद्र, अनिल सिंह, महेंद्र कुमार, कुंदन, शिवम और अवधेश आदि युवाओं की टीम ने गांव के हजारों लोगों को कोरोना के प्रकोप से बचने के लिए कड़ा रुख अख्तियार किया है। युवाओं ने गांव की मुख्य सड़क पर हस्त लिखित बैनर-पोस्टर लगा कर बाहरी लोगों के गांव में प्रवेश अपर पूरी तरह से पाबन्दी लगा है। 

टीम का नेतृत्व कर रहे राजेश पटेल का कहना है कि वैश्विक महामारी कोरोना वायरस से बचाव के लिए देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ लगातार मीडिया और सोशल मीडिया के माध्यम से आम जनमानस से लॉक डाउन के नियमो का पालन करने के साथ-साथ सोशल डिस्टेंस मेंटेन करने की अपील की जा रही है। ऐसे में सभी जिम्मेदार नागरिकों की जिम्मेदारी है कि वह सतर्कता बरतकर अपनी, परिवार और गांव को कोरोना के खतरे से बचाये। इसी उद्देश्य से गांव के युवाओं द्वारा मुख्य सड़क पर  बैनर और पोस्टर लगा कर बाहरी लोगों के प्रवेश पर पूरी तरह से रोक लगाई गई है। 

साथ ही गांव के लोगो से लॉक डाउन तक गांव क्वे बाहर न जाने की अपील की जा रही है। इसके अलावा युवाओं की टीम द्वारा सोशल डिस्टेंस मेंटेन रखते हुए गरीबों और असहायों के खाने-पीने आदि का इंतजाम किया जा रहा है। खुद बचे और सबको बचाए जैसे स्लोगन लिख कर लोगों को कोरोना वायरस से बचने के लिए अपने घर में रहने के प्रति जागरूक किया जा रहा है। वही जिलाधिकारी शेषमणि पांडेय और पुलिस अधीक्षक अंकित मित्तल ने इटरौर भीखमपुर गांव के युवाओं द्वारा कोरोना से बचाव के लिए शुरू की गई पहल की सराहना की है। डीएम का कहना है सतर्कता और जागरूकता से ही वैश्विक महामारी कोरोना के खतरे से बचा जा सकता है।

यह खबर भी पढ़े: कोरोना वायरस: इटली में टूटा मौतों का रिकॉर्ड, एक दिन में गई 1000 लोगों की जान

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From state

Trending Now
Recommended