संजीवनी टुडे

जूस पीकर तोडा स्वाति ने अनशन, कहा - अगर 3 महीने में कानून लागू नहीं तो ...

संजीवनी टुडे 22-04-2018 15:38:46


नई दिल्ली। उन्नाव और कठुआ गैंगरेप की घटनाओं के विरोध में अनशन पर बैठी दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने आज बच्चियों के हाथ से जूस पीकर अपना अनशन तोड़ दिया। उनका अनशन तुड़वाने राजघाट पर उनकी दादी भी पहुंची थीं। अनशन तोड़ने के बाद स्वाति ने कहा कि मेरी तबीयत ठीक है, लेकिन पीएम नहीं मानते तो लंबा अनशन चलता। मेरी तबीयत ठीक नहीं है तो अस्पताल में रहना होगा। अस्पताल से निकलने के बाद एक सिस्टम तैयार करेंगे ताकि महिलाएं सुरक्षित रहें। इस दौरान मंच पर निर्भया के माता पिता के अलावा नेता अली अनवर भी आए। 

स्वाति ने कहा कि अनशन की कोई रणनीति नहीं थी,  लेकिन पूरा देश साथ आ गया। चेन्नई से लेकर नागालैंड तक का हर इंसान इस लड़ाई से जुड़ा। प्रधानमंत्री जी को विदेश से आते ही कैबिनेट की मीटिंग बुलानी पड़ी और सख्त कानून पास किया। कानून कहता है कि छोटे बच्चों के बलात्कारियों को हर हाल में फांसी की सजा होगी, फ़ास्ट ट्रेक कोर्ट बनेंगे और 6 महीने में सजा होगी। यह ऐतिहासिक जीत हम सबकी है। यह जीत लाखों निर्भया की है, जो हमारे बीच में नही हैं। ऐसी निर्भया भी हैं जो क्रूरता की वजह से देश छोड़कर चली गईं। 

ू

स्वाति ने कहा कि संघर्ष बेहद लंबा है। 3 महीने में कानून लागू नहीं हुआ तो दोबारा लड़ेंगे। हमें घर और स्कूल में लोगों को जागरूक करना होगा। बलात्कार पर चुप्पी तोड़नी होगी। मैं अंतिम दम तक लड़ती रहूंगी। केंद्र के फैसले पर स्वाति मालीवाल ने कहा कि अध्यादेश में लिखा है कि 12 साल तक की बच्ची से बलात्कार पर फांसी की सजा होगी और मामले की सुनवाई 6 महीने में पूरी होगी. देशभर में नए फास्ट ट्रैक कोर्ट और स्पेशल टीमें बनाई जाएंगी, जो रेप केस की जांच करेंगी। 

MUST WATCH

बता दे कि, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने छोटी बच्चियों के साथ रेप की घटनाओं पर लगाम लगाने के लिए रेपिस्टों को मृत्युदंड देने वाले अध्यादेश को मंजूरी दे दी है। अब यह कानून देश में मान्य होगा और 12 वर्ष से कम उम्र की लड़की के साथ रेप करने पर अपराधी को फांसी की सजा मिलेगी।

More From state

Trending Now
Recommended