संजीवनी टुडे

हत्याकांड में तीन वरिष्ठ अधिकारियों की तीन थ्योरी

संजीवनी टुडे 14-01-2019 20:01:00


गया । गया में पटवा समाज की बहुचर्चित "बेटी" हत्याकांड में जिला से लेकर पुलिस मुख्यालय के तीन वरिष्ठ अधिकारी घटना के पीछे के कारणों को लेकर एक मत नहीं हैं। पुलिस अधीक्षक "आनर किलिंग" को घटना के पीछे की वजह बता चुके हैं। मगध क्षेत्र के पुलिस उप महानिरीक्षक विनय कुमार बगैर ठोस आधार के "आनर किलिंग" की थ्योरी से सहमत नहीं हैं जबकि सूबे के विधि-व्यवस्था के अपर महानिदेशक आलोकराज ने "ब्लाइंड केस"मानते हुए कांड के अनुसंधान को "खुला" रखने की बात कर रहे हैं। आलोकराज ने रविवार को घटनास्थल पर जाने के बाद पटवा समाज के प्रतिनिधियों से यह बात कही ।

उल्लेखनीय है कि गया के मानपुर के बुनियादगंज थाना क्षेत्र अंतर्गत पटवा समाज की एक बेटी 28 दिसंबर की शाम से लापता थी।06 जनवरी को युवती की लाश घर से कुछ दूरी पर मिली जिसका सिर धड़ से अलग था। मामले में पुलिस की लापरवाही का जब भारी विरोध हुआ तो10 जनवरी को एसएसपी ने प्रेस कांफ्रेंस कर इसे प्रथम दृष्टया "आनर किलिंग" का मामला घोषित कर दिया।इतना ही नहीं पुलिस ने पुलिस ने लड़की के माता-पिता को ही गिरफ्तार कर लिया।
हिन्दुस्थान समाचार/पंकज/विभाकर

More From state

Loading...
Trending Now
Recommended