संजीवनी टुडे

दलित महिलाओं के दो दिवसीय मिलन समारोह का अजमेर में होगा आयोजन

संजीवनी टुडे 28-09-2018 16:19:55


जयपुर। दलित अधिकार केन्द्र जयपुर, दलित महिला मंच, राजस्थान व एक्शन एड जयपुर के संयुक्त तत्वाधान में दिनांक 4-5 अक्टूबर 2018 को पोस्टल सोशल सेंटर, मदार, अजमेर में राज्य स्तरीय ‘‘दलित महिला मिलन समारोह‘‘ का ऐतिहासिक आयोजन किया जायेगा।

आयोजन मंडल के सदस्य एडवोकेट सतीश कुमार, चंदा लाल बैरवा, शांति मीमरोठ, इंदिरा सोलंकी  ने बताया कि समारोह का उद्घाटन अजमेर की  जिला कलेक्टर आरती डोगरा द्वारा किया जायेगा। इस अवसर पर समारोह में अनिता भेदल राज्य मंत्री महिला बाल विकास विभाग राजस्थान सरकार, बीजू जाॅर्ज जोसफ आई.जी. अजमेर रेंज, अरूणा राय सामाजिक कार्यकर्ता, मजदूर किसान शक्ति संगठन राजसमन्द सहित कई  प्रदेश में कार्यरत संगठनों प्रतिनिधि हिस्सा लेंगे।

इस राज्य स्तरीय ऐतिहासिक दलित महिला सम्मेलन में राज्य भर से अजमेर, कोटा, उदयपुर, जोधपुर, भरतपुर, जयपुर व बीकानेर संम्भाग के सभी 33 जिलों से दलित समुदाय की जाटव, मेघवाल, बैरवा, रैगर, बलाई, धानका, नायक, कंजर, कालबेलिया, नट, बावरिया, बागरिया, सालवी, जीनगर, भाम्बी, साठिया, ढोली, बेडिया, कोली, धोबी, खटीक, वाल्मीकी आदि 22 जातियों की लगभग 200 महिलाऐं भाग लेगी।  

उक्त आयोजन अपने आप में यह अनोखा आयोजन होगा क्योकि यह आयोजन, महिलाओं का, महिलाओं के लिए व  महिलाओं के द्वारा संचालित किया जायेगा। इस दो दिवसीय कार्यक्रम में महिलाओं को अपनी पीडा, समस्या, जीवन का अच्छा बुरा अनुभव, महिला व दलित महिला होने के कारण झेली गई पीडा आदि को महिलाओं के सामने सांझा दिया जायेगा। इस कार्यक्रम में दलित महिलायें अपनी परम्परागत लोक कलाओं, कहानी, संस्मरण, कविता, गीत, भजन, नृत्य आदि के माध्यम से अपने अनुभव व छिपी हुई कला व प्रतिभा को प्रदर्शित की जायेगी।  

इस सम्मेलन के आयोजन का मुख्य उद्देश्य दलित महिलाओं को एक मंच प्रदान करना है ताकि इस मंच के माध्यम से दलितों के द्वारा दलितों में ही सामाजिक स्तर पर होने वाले आन्तरिक स्तर पर जातिगत भेदभाव को समाप्त किया जा सके। क्योकि पिछले लम्बे अनुभव के बाद में महसूस किया गया है कि सामाजिक परिवर्तन के लिए महिलाओं का योगदान रेखाकिंत करने योग्य होता है। 

क्यों की दलित महिलाओं के प्रयास से दलितों में होने वाली आन्तरिक स्तर पर भेदभाव को पुरूषों की तुलना में महिलाऐं आसानी से बदलाव ला सकती है, ताकि दलित समुदाय में होने वाला जातीय भेदभाव समाप्त हो सके। एक मंच पर आने से दलित महिलाओं में नेतृत्व क्षमता का विकास करना, कानूनी जानकारी प्रदान करना, गरीमा व स्वाभीमान की भावना पैदा करना है ताकि दलित महिलाऐं एक जुट होकर अपने अधिकार व सम्मान की बात कर सके। 

2.40 लाख में प्लॉट जयपुर: 21000 डाउन पेमेन्ट शेष राशि 18 माह की आसान किस्तों में Call:09314166166

MUST WATCH & SUBSCRIBE

इस कार्यक्रम में सामाजिक संगठनों की महिला प्रतिनिधि, महिलाओं पर काम करने वाले संगठन, महिला समुदायिक लीडर, सिविल सोसायटी के प्रतिनिधि, महिला जनप्रतिनिधि, महिला एडवोकेट, महिला सामाजिक कार्यकर्ता मुख्य रूप से भाग लेगी।

sanjeevni app

More From state

Loading...
Trending Now
Recommended