संजीवनी टुडे

स्वतंत्रता आंदोलन के क्रांतिकारी नेता थे वीर सावरकर: गडकरी

संजीवनी टुडे 26-02-2019 16:12:40


नई दिल्ली। केंद्रीय जल संसाधन, नदी विकास एवं गंगा संरक्षण मंत्री नितिन गडकरी ने सावरकर को याद करते हुए उनकी पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि देते हुए अपनी कृतज्ञता प्रकट की। केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्यारण मंत्री राधा मोहन सिंह ने भी वीर सावरकर की पुण्यतिथि पर उन्हें श्रद्धांजलि दी। मंत्री ने मंगलवार को ट्वीट कर कहा कि वीर सावरकर स्वतंत्रता सेनानी एवं महान जननायक थे।

जयपुर में प्लॉट मात्र 2.30 लाख में Call On: 09314188188

उल्लेखनीय है कि विनायक दामोदर सावरकर का जन्म 28 मई,1883 में नासिक के भगूर गांव के एक सामान्य मध्यम वर्गीय परिवार में हुआ था। इनके पिता का नाम दामोदरपंत सावरकर एवं मां का नाम राधा बाई था। सावरकर की 26 फरवरी वर्ष 1966 में 83 वर्ष की आयु में निधन हो गया था।

वीर सावरकर के बारे में कहा जाता है कि उन्होंने आजादी की लड़ाई में बंदूक की बजाय कलम को हथियार बनाया था। उनके लिखने के बारे में कहा जाता है कि जब उनको काला पानी की सजा हुई तो जेल के अधिकारियों को चेतावनी दी गई थी कि उन्हें पेन-पेपर न दिया जाए। 

MUST WATCH & SUBSCRIBE

ऐसे हालत में भी उन्होंने लिखना नहीं छोड़ा दीवारों को पेपर और नाखून को पेन बना लिया और लिखते रहे। सावरकर के द्वारा लिखी किताब 'द इंडियन वॉर ऑफ इंडिपेंडेंस-1857', 'मेरा अजीवन कारावास' और 'अण्डमान की प्रतिध्वनियां' काफी प्रसिद्ध रही हैं।

More From state

Trending Now
Recommended